धरना-प्रदर्शन:अपनी मांगों को ले कॉलेज कर्मियों ने दिया धरना, कहा-मांगे पूरी नहीं होने तक जारी रहेगा आंदोलन

औरंगाबाद16 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शुक्रवार को अपनी मांगों को लेकर सिन्हा कॉलेज के कर्मियों ने कॉलेज परिसर में धरना दिया। धरना बिहार राज्य विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय कर्मचारी महासंघ के बैनर तले दी गई। जिसकी अध्यक्षता व संचालन अशोक कुमार सिंह ने किया। धरना को संबोधित करते हुए अशोकर कुमार सिंह ने कहा कि काॅलेज कर्मियों को ससमय वेतन नहीं मिलने से काफी परेशानी हो रही है। संघ के सचिव शक्ति कुमार सिंह व पूर्व सचिव मनोज कुमार सिंह ने कहा कि एक तरफ कोरोना की कहर दूसरे तरफ आर्थिक तंगी है। जिससे काॅलेज कर्मचारी मुश्किल के दौर से गुजर रहें हैं।

जब तक सभी मांगे पूरी नहीं होती है तब तक हमारा आंदोलन जारी रहेगा। कर्मचारियों के मुख्य मांगों में 4 माह के लंबित वेतन व पेंशन की राशि का भुगतान कराना, सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के आलोक में एसीपी व एमएससीपी के बकाए अंतर राशि के भुगतान के लिए राशि उपलब्ध कराना, वेतन पुनरीक्षण के फल स्वरुप कर्मचारियों के अंतर वेतन की राशि का भुगतान कराना, कर्मचारियों को ससमय प्रोन्नति दिलाना, अल्पसंख्यक महाविद्यालय के कर्मचारियों को एसीपी व एमएससीपी की सुविधा प्रदान कराना, वेतन सत्यापन कोषांग के द्वारा निर्धारित वेतन में छेड़छाड़ पर अंकुश लगाना आदि शामिल है।

इसके बाद भी मांगे नहीं पूरी हुई तो 15 फरवरी को वेतन सत्यापन कोषांग का घेराव किया जाएगा। इसके बाद बजट सत्र के दौरान विधानमंडल के समक्ष प्रदर्शन किया जाएगा। इसके बावजूद भी उनकी मांगों पर विचार नहीं है तो 5 अप्रैल से अनिश्चितकालीन हड़ताल किया जाएगा। नेताओं ने बताया कि महासंघ का 28वां महाधिवेशन मगध विश्वविद्यालय परिसर में होगा। इस मौके पर अर्चना कुमारी सिन्हा, वीरेंद्र गुप्ता, एहसान अख्तर, संजीव कुमार, तौकीर अहमद, मनीष कुमार सिंह, राहुल कुमार सिंह, हिमांशु रंजन, अमित रंजन, उज्जवल कुमार सहित अन्य मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...