सरकार! देखिए शराबबंदी का हाल:ये हैं पियक्कड़ पीठासीन अधिकारी, बूथ पर पहुंचने से पहले ही हुए टल्ली, फिर फरार, खोज रही पुलिस

अंबाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शराब पीकर टल्ली पीठासीन पदाधिकारी । - Dainik Bhaskar
शराब पीकर टल्ली पीठासीन पदाधिकारी ।

ये हैं पियक्कड़ पीठासीन अधिकारी राम प्रसाद राम। इनके कंधे पर पंचायत चुनाव कराकर गांव में आर्दश सरकार बनवाने की जिम्मेवारी है, लेकिन ये बूथ पर पहुंचने से शराब पीकर टल्ली हो गए। पहले सड़क पर गिरकर टीम व अन्य लोगों को भरपेट गाली दी। फिर पकड़े जाने के डर से फरार हो गए। अब इन्हें पुलिस गांव-गांव खोज रही है। मामला कुटुंबा प्रखंड से जुड़ा है। शराबी पीठासीन अधिकारी राम प्रसाद राम गाेह के राजस्व कर्मचारी है।

कुटुंबा व देव प्रखंड में बुधवार को दसवां और जिले के आखरी चरण का पंचायत चुनाव है। उक्त फरार राजस्व कर्मचारी को कुटुंबा प्रखंड के बूथ संख्या 124 का पीठासीन अधिकारी बनाया गया है। जिसके साथ अन्य 5 कर्मचारियों को लगाया गया है। वह मंगलवार को चिल्हकी कलस्टर सेंटर पर पहुंचा। सारा सामान लिया और ससुराल जाने के नाम पर झारखंड निकल गया। उसी इलाके में उसका ससुराल एरका गांव में है।

वहीं वह शराब पीकर टल्ली हुआ। उसके सहयोगी खोजते-खोजते वहां पहुंच गए। जहां उसका हालत देखकर वे दंग रह गए। उठाने की कोशिश की। आमलोग भी उठने को बाेले। जिसके बाद पियक्कड़ पीठासीन अधिकारी ने उन्हें अपना रूतबा और पावर बताते हुए गाली दिया। जिसके बाद वे वहां से भाग गए। सीधे प्रखंड ऑफिस पहुंचे और पुरी बात बताकर पीठासीन अधिकारी को बदलने की मांग की।

इसकी जानकारी दैनिक भास्कर को मिली। फिर भास्कर टीम मौके पर पहुंची और पियक्कड़ पीठासीन अधिकारी की तस्वीर और विडियो कैमरे में कैद किया। हमने बात करने की कोशिश की, लेकिन वह बोलने की हालत में भी नहीं था। जिसका विडियो भी भास्कर के पास मौजूद है।

निलंबित कर दिया, पुलिस खोज रही
विडियो देखते ही उक्त पीठासीन अधिकारी को निलंबित कर दिया है। उसके जगह पर दुसरे को पीठासीन बनाया गया है। पुलिस राजस्व कर्मचारी को खोज रही है। उसके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी।
सौरभ जोरवाल, डीएम

खबरें और भी हैं...