पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

छठ पर्व:इस बार अंतर्मन में देव...घर-घर में सूर्य उपासना, श्रद्धा का सैलाब अगली बार

औरंगाबाद10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • जिलेभर में गाइडलाइन का पालन कर रहे छठ व्रती, प्रशासन चौकस
  • नदी, तालाब व सरोवर में डुबकी लगाने पर प्रतिबंध, विधायकों ने भी किया घरों में छठ व्रत

सूर्य नगरी देव से लेकर पूरे जिले में अनुशासन के साथ घर-घर सूर्य उपासना और छठ व्रत हो रहा है। व्रतियों ने अपने घरों से ही सूर्यदेव को जल अर्पण और फिर खरना किया। छठ व्रतियों ने कहा कि इस बार कोरोना महामारी को हराने के लिए हम पूरी आस्था के साथ घर-घर में सूर्यदेव को मन से याद कर रहे हैं।

जब कोरोना पर इंसानियत की विजयी होगी तो अगले वर्ष देव में श्रद्धा का सैलाब फिर उमड़ेगा। दिल में अफसोस जरूर है कि सूर्य भूमि देव में छठ व्रत नहीं कर रहे हैं, लेकिन हम अपनी आस्था में इस कदर लीन हैं कि घर में ऐसा लग रहा है कि देव बसा हो। भगवान सूर्यदेव खुद साक्षात घरों में विराजमान हों।
लोग बोले -2020 का यह कार्तिक छठ मेला देव के लिए एक इतिहास
आदिकाल से देव सूर्य उपासना का केन्द्र रहा है। यहां देश के अलग-अलग कोने से सूर्य में आस्था रखने वाले श्रद्धालु सालोंभर पहुंचते हैं, लेकिन कार्तिक छठ में तो छठ व्रति और श्रद्धालुओं का आंकड़ा 10 लाख पार कर जाता है। 2019 में यह आंकड़ा रिकॉर्ड तोड़ा था और 16 लाख श्रद्धालु पहुंचे थे। भीड़ आगे बढ़ने के बजाय रेंग रही थी।

भगदड़ में दो बच्चों की मौत और 40 लोग दबकर जख्मी हो गए थे, लेकिन 2020 कार्तिक छठ में जो देव का नजारा है ऐसा सन्नाटा देव ने कभी नहीं देखा था। उम्मीद है आगे भी कभी नहीं देखेगा। यह इस साल का छठ पर्व देव के इतिहास में दर्ज हो जाएगा। देव सूर्य मंदिर के मुख्य पुजारी भी बोलते हैं कि कई महामारियां आयी हैं, लेकिन देव में इस तरह का सन्नाटा नहीं हुआ था।

यह सन्नाटा भी मानव जाति के लिए एक दैविय संकेत है। सूर्यदेव का कहना है मानव संभल जाए। वरना ऐसे महामारियां मानव को नियंत्रित करने के लिए आती रहेंगी। सभी सूर्य उपासकों ने भी अपने अनुशासन से भगवान को मिनती किया है। यह सन्नाटा भी उसका एक संकेत है। शायद अब सूर्यदेव भी हमारी अनुशासन और विनती जरूर सुनेंगे। कोरोना का अंत होगा और अगले साल श्रद्धा का सैलाब देव में जरूर उमड़ेगा।
कोरोना छठ गाइडलाइन

  • देव में सूर्यकुंड तालाब और मंदिर में प्रवेश पर रोक
  • एक जगह पर पांच से ज्यादा व्यक्तियों के भीड़ पर रोक
  • सोशल डिस्टेंस व मास्क लगाते हुए घर में ही छठ व्रत करने की अपील
  • किसी भी नदी, तालाब, सरोवर में डूबकी लगाने पर प्रशासन ने रोक लगाया है
  • आस्था और महामारी को देखते हुए मन और वचन से छठ करने की अपील

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- पिछले रुके हुए और अटके हुए काम पूरा करने का उत्तम समय है। चतुराई और विवेक से काम लेना स्थितियों को आपके पक्ष में करेगा। साथ ही संतान के करियर और शिक्षा से संबंधित किसी चिंता का भी निवारण होगा...

और पढ़ें