पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

उन्मुखीकरण कार्यशाला आयोजित:बच्चों की मृत्युदर कम करने के लिए कार्यशाला आयोजित

औरंगाबाद13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मंगलवार को शहर के एक निजी होटल में एक दिवसीय उन्मुखीकरण कार्यशाला आयोजित कर बच्चों की मृत्यु दर कम करने के उद्देश्य से क्रियान्वित कार्यक्रम एचबीवाईसी के तहत स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को जानकारी दी गई।इस प्रशिक्षण में जिले के सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी, स्वास्थ्य प्रबंधक एवं प्रखंड सामुदायिक उत्प्रेरक भाग लिए।

कार्यशाला का उद्घाटन सिविल सर्जन डॉ कुमार वीरेंद्र प्रसाद अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ किशोर कुमार, क्षेत्रीय कार्यक्रम प्रबंधक पियूष रंजन, निपि के टीम लीडर गौरव कुमार एवं डीपीएम डॉ. कुमार मनोज ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित कर किया। सिविल सर्जन ने बताया कि एचबीवाईसी के प्रभावी क्रियान्वयन हेतु स्वास्थ्य विभाग बिहार सरकार एवं नॉर्वे इंडिया पार्टनरशिप इनीशिएटिव (निपी) के सौजन्य से राज्य में स्वास्थ्य विभाग के पदाधिकारियों का उन्मुखीकरण किया जा रहा है।

कार्यशाला के दौरान विशेषज्ञों द्वारा स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को महत्वपूर्ण जानकारियां दी गई।उन्मुखीकरण प्रशिक्षण के लिए राज्य से आये प्रशिक्षक डॉ व्योमकेश ने बताया कि पांच वर्ष से कम आयु के दस बच्चों में से लगभग चार बच्चों का उनकी उम्र के अनुपात में वजन कम होता है।

पांच वर्ष से कम आयु के दस में से लगभग दो बच्चों का लंबाई के हिसाब से वजन कम होता है। वहीं पाच वर्ष से कम आयु के दस बच्चों में से लगभग चार बच्चों की लंबाई उम्र के हिसाब से नहीं बढ़ती है और इन सब का कारण कुपोषण है।

खबरें और भी हैं...