प्रशासन का ध्यान नहीं:बछवाड़ा में छठ घाटों की नहीं हुई है साफ-सफाई, व्रतियों को होगी परेशानी

बछवाड़ाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

श्रद्धा और लोक आस्था का महापर्व छठ पूजा की तिथि नजदीक आने के साथ ही पूजा की तैयारी तेज हो गई है। छठ महापर्व को लेकर ग्रामीण इलाकों में गंगा वाया नदी के तटों पर श्रद्धालुओं की काफी भीड़ जमा होती है। छठ महापर्व को लेकर विभिन्न छठ घाटों की सफाई का काम अभी तक नहीं शुरू किया गया है। छठ घाटों की सफाई नहीं होने से श्रद्धालुओं को पर्व में परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है।

बताते चलें कि गोधना पंचायत से लेकर रानी एक, रानी दो, रानी 3, गोविंदपुर तीन, दादूपुर विशनपुर, चमथा 1, चमथा 2,चमथा तीन, पंचायत के हजारों लोग गंगा वाया नदी के किनारे छठ व्रत की पूजा पाठ करते आ रहे हैं। वाया नदी किनारे कई स्थानों पर जगह जगह घाट बनाए जाते हैं। जहां छठ पर्व करने के लिए हजारों लोग पहुंचते हैं।

वहीं बलान नदी के किनारे रसीदपुर, चिरंजीवीपुर, फतेहा, राजापुर, बछवाड़ा, भिखमचक, अरवा, कादराबाद आदि पंचायत के हजारों छठ व्रती विभिन्न घाटों पर पूजा पाठ करते हैं। फिर भी अभी तक ना तो प्रशासन का ध्यान इस और गया है और ना ही किसी जनप्रतिनिधि का।

ग्रामीण क्षेत्र में ऐसे कई घाट हैं जहां गंदगी व कचरे का अंबार लगा हुआ है। छठ घाट पर जाने वाली सड़कों की स्थिति भी खराब है। ग्रामीणाें ने प्रशासन से विभिन्न घाटों की सफाई एवं घाट पर बांस बल्ले लगवाने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...