पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

राहत:सेमरिया-पंडितपुर तटबंध सड़क के दिन बहुरेंगे राघवेंद्र बोले- दो दर्जन पथों के जीर्णोद्धार को मंजूरी

बड़हराएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अधिकारी-ठेकेदार गठजोड़ से बर्बाद पड़रिया-बबुरा बांध व सेमरिया-महकमपुर पथ

बक्सर-कोईलवर तटबंध पर बड़हरा प्रखंड में पड़रिया से बबुरा तक बांध पर सड़क छपरा, कोईलवर व बड़हरा पूर्वी इलाके के दर्जनों गांवों की लाइफ-लाइन है। बांध पर बने रहने से ऊंचाई के कारण यह सड़क काफी उपयोगी है। दूसरी तरफ बड़हरा प्रखंड मुख्यालय पर सेमरिया-पंडितपुर-महकमपुर सड़क कोईलवर व बड़हरा प्रखंड को जोड़ता है। इसमें सेमरिया से पंडितपुर का हिस्सा गांगी तटबंध का हिस्सा है। तटबंध पर बनी दोनों सड़कें अपनी ऊंचाई के कारण बाढ़ के वक्त गंगा और गांगी नदी के जल को क्षेत्र में फैलने से बचाता है। वहीं, बाढ़ के समय राहत सामग्री पहुंचाने का एकमात्र विकल्प रहता है।

अधिकारियों से लेकर आमजन का लाईफ लाईन के तौर पर वाहनों का परिचालन कार्य कराता है। लेकिन, दोनों सड़कें ठेकेदारी में भ्रष्टाचार की बलि चढ़ गयी हैं। संबंधित सड़क विभाग और ठेकेदारों गलत तरीके से कमाने के लिए दोनों को सड़क कहने लायक भी नहीं छोड़ा है। पहले आरा शहर तक के लोग छपरा आने-जाने के लिए बबुरा- पड़रिया से बांध सड़क पर आवागमन करते थे। अब...हाल यह यह कि बबुरा से पड़रिया तक कहीं सड़क बची ही नहीं है। सड़क पर इतने गड्‌ढे हैं कि गिनना मुश्किल है।...और सड़क को ढूढ़ते रह जाएंगे! इस पर डर के मारे लोग यात्रा करना छोड़ दिये है। कब और कहां दुर्घटना हो जायेगा, लोगों में भय बना रहता है।

अधिकारी-ठेकेदारों ने बर्बाद किया सेमरिया-महकमपुर पथ; बड़हरा मुख्यालय से पंडितपुर तक टेंपो जाना मुश्किल
सेमरिया-पंडितपुर-महकमपुर इलाके की महत्वपूर्ण सड़क है। आरा-पटना नेशनल हाइवे पर आने-जाने के लिए लोग इसी सड़क का इस्तेमाल करते थे। लेकिन, यह अतीत की कहानी हो गयी। सेमरिया से पंडितपुर बांध सड़क का निर्माण वर्ष 2002 से 04 के बीच हुआ था। उसके बाद सड़क से हल्के व भारी वाहन फर्राटे भरते हुए यात्रा पुरी करते थे। अब सेमरिया से पंडितपुर तक बांध सड़क कई जगह कट गयी है, टेंपों तक पार नहीं

होगा। सड़क पूरी तरह उबड़-खाबड़, गड्‌ढे, कटान से सराबोर है। वाहन कभी भी बांध के नीचे लुढ़क सकता है। पंडितपुर से कोईलवर प्रखंड के महकमपुर तक हमेशा सड़क खराब रही। अभी गिट्‌टी बिछाकर छोड़ दिया गया है। जदयू-भाजपा या राजद-जदयू सरकार हर बार ठेकेदार हावी रहे। वर्ष 2000-2005 के बीच सेमरिया से पंडितपुर होते डुमरिया बाजार तक पक्की सड़क विधायक राघवेंद्र प्रताप सिंह के कार्यकाल में बना।

खबरें और भी हैं...