पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

संकट:10 लाख की लागत से जल संचयन के लिए बनाया गया चेकडैम हल्की वर्षा में ही बहा

बाराचट्‌टी10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चेकडैम के बहने के बाद योजना में घपले की जताई जा रही आशंका, मुखिया बोले- तेज पानी आया था

बाराचट्टी प्रखंड के दिवनियां पंचायत अंतर्गत दिवनियां गांव के समीप नदी में जल संचयन को बनाया गया चेकडेम हल्की बारिश के पानी में ही बह गया। इसका निर्माण मनरेगा के तहत किया गया था। करीब 10 लाख रुपए की लागत से बने चेकडेम से दिवनियां गांव के किसान लंबी आस लगाए बैठे थे। किन्तु वह चेकडेम उदघाटन के महज चार महीने बाद ही बह गया। 

जबकि नदी में पानी का उफान फिलहाल में इतना भी ज्यादा नहीं है। चेकडेम टूटने से बीबी पेसरा एसएसबी कैम्प की ओर मिट्टी का कटाव तेजी से हो रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि मनरेगा कार्य में दिवनियां गांव में दलाल सक्रिय है, जिसके माध्यम से रोजगार सेवक एवं मुखिया से ताल मेल कर काम करवाया गया है, जिसके एवज में कार्य करने वाले सभी को मोटा कमीशन दिया जाता है।
डीडीसी ने फरवरी में किया था उदघाटन
चेकडेम तैयार होने के बाद उद्घाटन डीडीसी किशोरी चौधरी के हाथों फरवरी माह में फीता काटकर किया गया था। हल्का बहाव भी यह चेकडेम झेल नहीं सका और धाराशायी हो गया। चेकडेम बहने का मुख्य कारण गुणवत्तापूर्ण कार्य नहीं होना बताया जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि नदी में  घटिया ईट  एवं सीमेंट एवं मिटटी वाला ही बालू नदी से उठाकर चेकडेम का निर्माण कार्य पूरा कर दिया गया। वहीं ऊपर से ढ़लाई-लीपापोती कर महज 2 से 3 इंच कर दी गई, जिसका नतीजा है कि चेकडेम नदी में आए पहले पानी में ही बह गया। 
मुखिया ने कहा- तेज पानी के कारण चेकडैम बहा
मुखिया ओमकार कुमार ने बताया कि नदी में तेज पानी आने के कारण चेकडेम बह गया है। कार्यक्रम पदाधिकारी मनरेगा दिपतेश कुमार ने बताया कि योजना की जांच कार्रवाई की जाएगी। यदि योजना में गुणवत्ता का अभाव रहा तो कार्रवाई होगी। 

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आर्थिक स्थिति में सुधार लाने के लिए आप अपने प्रयासों में कुछ परिवर्तन लाएंगे और इसमें आपको कामयाबी भी मिलेगी। कुछ समय घर में बागवानी करने तथा बच्चों के साथ व्यतीत करने से मानसिक सुकून मिलेगा...

    और पढ़ें