• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Barauni
  • Administration Indifferent Towards Cleaning The Ghats Of The Area On The Occasion Of Chhath Mahaparva; Due To Excessive Rain This Year, The Pond Is Full Of Water At All Places.

छठ महापर्व:क्षेत्र के घाटों की सफाई के प्रति प्रशासन उदासीन; इस वर्ष अत्यधिक बारिश के कारण सभी जगहों पर तालाब पानी से लबालब भरा है

बरौनी22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बरौनी में घाटों के साफ-सफाई में जुटे युवा। - Dainik Bhaskar
बरौनी में घाटों के साफ-सफाई में जुटे युवा।
  • पूजा-पाठ } पूजा स्थल के घाटों की सफाई और सजावट ग्रामीणों की ओर से ही की जाती है

छठ महापर्व के अब चंद दिन बाकी है लेकिन बरौनी व आसपास के अधिकांश छठ घाटों में व्याप्त गंदगी, उसकी सजावट एवं वहां पहुंचने वाले श्रद्धालुओं के सुरक्षा के लिए की जाने वाली व्यवस्था को लेकर प्रशासन की ओर से अब तक कोई पहल शुरू नहीं की जा सकी है।

महापर्व को सफल बनाने के लिए ग्रामीणों व युवाओं ने टोली बनाकर इसे अपने स्तर से साफ-सफाई करने एवं इसकी सजावट की व्यवस्था करने की तैयारी शुरू कर दी है। शोकहारा, फुलवरिया, निपनियां, मालती व आसपास के ग्रामीणों की मानें तो घाटों के निरीक्षण व जरूरी निर्देशों की औपचारिकता के सिवा क्षेत्र के अधिकारी छठ महापर्व को लेकर इन क्षेत्रों में किसी भी तरह के सकारात्मक पहल के प्रति उदासीन ही रहते हैं।

सभी लोग महापर्व की आस्था को देखते हुए स्वयं ही श्रमदान कर साफ-सफाई एवं रोशनी की व्यवस्था करते हैं। इस वर्ष अत्यधिक बारिश के कारण सभी जगहों पर एक ओर तालाब पानी से लबालब भरा है। वहीं लगातार बारिश के कारण नदियों के जलस्तर एवं उसके तटबंध में कटाव के कारण पर्व के लिए घाटों की अत्यंत ही खराब स्थिति बनी हुई है। इस बार किनारे में भी खड़े होकर महापर्व कर पाना मुश्किल लग रहा है।

पांच दिनाें से घाट की सफाई में लगे हैं समिति के कार्यकर्ता
निपनियां मथुरापुर पंचायत के सीढ़ी घाट मधुरापुर पुवारी टोला के मां गंगा युवा विकास समिति कार्यकर्ताओं द्वारा छठ घाट की साफ सफाई को लेकर सामूहिक अभियान चलाया गया है। जिस दौरान इन घाटों पर मूर्ति विसर्जन, घरेलू पूजन सामग्री के विसर्जन व अन्य कूड़ा कचरा के सैकड़ों क्विंटल अवशेषों को घाटों से हटाने एवं घाटों की साफ-सफाई को लेकर समिति के कार्यकर्ताओं की अलग-अलग टोली बीते 5 दिनों से लगातार सफाई को लेकर कार्यरत है।

समिति के स्थानीय कार्यकर्ता सौरभ कुमार उर्फ भूरे लाल ने बताया कि छठ महापर्व के दौरान आसपास के 10 किलोमीटर के गांव से श्रद्धालु छठ महापर्व को मनाने सैकड़ों श्रद्धालु यहां गंगा के किनारे जुटते हैं। समिति के कार्यकर्ता अमित कुमार, भोला कुमार, गुलशन कुमार, प्रिंस कुमार समेत अन्य कई कार्यकर्ताओं ने बताया कि पिछले 8 वर्ष से समिति के कार्यकर्ता छठ महापर्व के दौरान पहुंचने वाले श्रद्धालुओं की खिदमत के लिए लगातार कार्य कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...