पर्वों की बहार:उत्सवों का अगस्त, जन्माष्टमी तक 16 से ज्यादा त्योहार

बरौनी2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राधा-कृष्ण मंदिर में पहुंचे श्रद्धालु। - Dainik Bhaskar
राधा-कृष्ण मंदिर में पहुंचे श्रद्धालु।
  • महादेव को समर्पित यह महीना पूजा-पाठ के साथ-साथ खरीदारी के लिए भी रहेगा समृद्धिकारक

देवों के देव महादेव को समर्पित श्रावण का महीना न सिर्फ धर्म-आराधना, पूजा-पाठ व भजन कर्तन के लिए समर्पित है। बल्कि देश को लंबी गुलामी के बाद मिली आजादी के अवसर पर देश के कोने-कोने में हर धर्म, हर जाति, व हर तबके में उल्लास के साथ मनाई जाने वाली राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस के लिए भी समर्पित है।

जाहिर है यह महीना धार्मिक पर्व त्योहारों के साथ-साथ राष्ट्रीयता के उत्साह से भी ओतप्रोत साबित होगा। श्रावण और अगस्त में 17 से ज्यादा पर्व-त्योहार व शुभ योग बताए जा रहे हैं। जिसमें देश का राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस के साथ-साथ हरियाली अमावस्या, हरियाली तीज, नागपंचमी से लेकर रक्षाबंधन और जन्माष्टमी जैसे त्योहार व सर्वार्थ सिद्धि एवं रवि पुष्य जैसे शुभ योग शामिल है।

जो पूजा-पाठ व धर्म-कर्म के कार्य के साथ ही खरीदारी के लिए शुभ रहेंगे। इसके पूर्व 4 अगस्त को कामिका एकादशी मनाई गई। बताया जाता है कि श्रावण कृष्ण पक्ष की इस एकादशी पर भगवान विष्णु की आराधना से जीवात्मा को पापों से मुक्ति मिलती है। श्रीकृष्ण ने धर्मराज युधिष्ठिर को व्रत कथा सुनाई थी। 8 अगस्त रविवार को हरियाली अमावस्या के दिन सर्वार्थ सिद्धि एवं रवि पुष्य योग भी है।

18 अगस्त को पुत्रदा एकादशी
श्रावण शुक्ल पक्ष को एकादशी को पुत्रदा, पवित्रा एकादशी के नाम से जानते हैं। इस वर्ष पुत्रदा एकादशी 18 एवं 19 अगस्त को मनाया जाना है। धर्म शास्त्रों में ऐसी मान्यता है कि इस दिन भगवान विष्णु को पवित्रा की माला अर्पण कर सिंघाड़ा का भोग लगाते हैं।

नागपंचमी 13 को... नाग चित्र की करेंगे पूजा
श्रावण शुक्ल पक्ष के नागपंचमी 13 अगस्त को मनाई जाएगी। इस दिन भक्त व्रत रखकर देवों के देव महादेव भोलेनाथ के साथ नाग देवता की भी पूजा करेंगे। ऐसी मान्यता है कि जो भक्त श्रावण शुक्ल पंचमी पर नाग देवता की पूजा और रुद्राभिषेक करते हैं। उन पर महादेव की विशेष कृपा बनती है। और उन्हें सभी कष्टों से मुक्ति प्राप्त होती है। इस दिन भक्तों द्वारा घर के बाहर या दीवारों पर नागों के चित्र बनाकर उनकी पंचोपचार पूजा की जाएगी।

हरियाली अमावस्या के दिन रहेगा सर्वार्थ सिद्धि योग
अगस्त में व्रत त्योहार की सूची

  • 4 अगस्त : एकादशी बुधवार कामदा या कामिका एकादशी व्रत
  • 5 अगस्त : गुरुवार कृष्ण प्रदोष व्रत
  • 6 अगस्त : मासिक शिवरात्रि
  • 8 अगस्त : रविवार रवि पुष्य योग, देव-पितृ कार्य हरियाली अमावस्या
  • 10 अगस्त : दूज मंगलवार स्वामी करपात्री जयंती
  • 11 अगस्त : तीज बुधवार हरियाली व झुला तीज का व्रत एवं स्वर्ण गौरी व्रत
  • 12 अगस्त : चतुर्थी विनायक दूर्वा चतुर्थी
  • 13 अगस्त : पंचमी शुक्रवार नागपंचमी
  • 15 अगस्त : तुलसीदास जयंती एवं राष्ट्रीय पर्व स्वतंत्रता दिवस
  • 16 अगस्त : सोमवार दूर्वा अष्टमी व्रत
  • 17 अगस्त : मंगला गौरी व्रत
  • 18-19 अगस्त : पवित्रा एकादशी व्रत
  • 20 अगस्त : शुक्रवार शुक्ल प्रदोष।
  • 21 अगस्त : व्रत की पूर्णिमा पर्व और सत्यनारायण पूजन।
  • 22 अगस्त : पूर्णिमा रविवार को रक्षाबंधन और श्रावणी कर्म।
  • 25 अगस्त : कजली व सतवा तीज।
  • 30 : जन्माष्टमी।
  • 31 अगस्त : गोगा नवमी।
खबरें और भी हैं...