पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

1470 करोड़ रुपए की राशि खर्च होने की उम्मीद:जिले को और 6 नए रेलवे स्टेशन की मिल सकती है सौगात

बरौनी| मनोज कुमार झा2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बरौनी-हसनपुर नई रेलवे लाइन के सर्वेक्षण का कार्य पूरा, रेलवे बोर्ड को भेजी गई रिपोर्ट, गौरा, तेयाय, दहिया भगवानपुर, चेरियाबरियारपुर, मंझौल, जयमंगला गढ़ व गढ़पुरा बाजार में बनेगा नया स्टेशन

बरौनी हसनपुर रेलखंड के सर्वेक्षण का काम ना सिर्फ पूरा हो गया है, बल्कि इसकी स्वीकृति के लिए रेलवे बोर्ड को सर्वेक्षण रिपोर्ट भेज दी गई है। रेलवे बोर्ड से इस प्रोजेक्ट की स्वीकृति के साथ-साथ आगामी आम बजट में इस प्रोजेक्ट के लिए राशि आवंटित होने भर की देरी है। जिसके बाद जिलावासी 45.38 की दूरी तय कर हसनपुर तक की रेल यात्रा कर सकेंगे। इसके साथ ही रेल मार्ग सीधा रेल सेवा नहीं होने के कारण वर्तमान समय में बरौनी से हसनपुर की तकरीबन 110 किलोमीटर की रेल यात्रा में लगने वाले 4 से 5 घंटे की समय अब घटकर 40 से 50 मिनट हो जाएगा।

45.38 किलोमीटर की रेल परियोजना बरौनी से हसनपुर के बीच पांच रेलवे स्टेशन एवं एक रेलवे हॉल्ट का होना है निर्माण
45.38 किलोमीटर की इस रेल परियोजना में बरौनी जंक्शन से हसनपुर के बीच कुल छह नए रेलवे स्टेशन के निर्माण का प्रस्ताव है। इनमें से पांच नए रेलवे स्टेशन जबकि एक नया रेलवे हॉल्ट बनाया जाना है। बरौनी जंक्शन से 8 किलोमीटर की दूरी पर गौरा तेयाय में जबकि बरौनी से 14.5 किलोमीटर की दूरी पर एवं गौरा तेयाय रेलवे स्टेशन से 6.5 किलोमीटर की दूरी पर भगवानपुर दहिया रेलवे स्टेशन का निर्माण होगा। इस स्टेशन से 6.5 किलोमीटर की दूरी पर चेरिया बरियारपुर रेलवे स्टेशन, 2.5 किलोमीटर बाद मंझौल रेलवे हॉल्ट, 7 किलोमीटर बाद जयमंगला गढ़ रेलवे स्टेशन एवं 4.3 किलोमीटर बाद गढ़पुरा रेलवे स्टेशन के निर्माण की योजना है।

क्षेत्र का पहला रेल खंड जिसमंे नहीं होगा एक भी रेलवे गुमटी
बरौनी से हसनपुर के बीच का यह रेल परियोजना क्षेत्र का पहला ऐसा रेल परियोजना होगा जिसमें बरौनी से हसनपुर के बीच के 45.385 किलोमीटर के रेलखंड के बीच एक भी रेलवे गुमटी नहीं होगा। भेजे गए सर्वेक्षण रिपोर्ट में रेलवे गुमटी के बदले 20 सबवे जबकि दो रोड ओवरब्रिज के निर्मााण का प्रस्ताव है।

छोटे-बड़े 43 रेलवे पुल का होगा निर्माण
रेलवे के जानकारों की माने तो भेजे गए इस रेल परियोजना के सर्वे रिपोर्ट के अनुसार इस खंड में कुल 38 छोटे-छोटे पुलों के अलावे पांच बड़े पुलों का निर्माण कराया जाएगा। जिसमें बरौनी- बछवारा एनएच 28 पर रेल ट्रैक के ऊपर से रेलवे ओवरब्रिज के निर्माण के अलावे बेगूसराय-रोसरा स्टेट हाईवे 55 पर मंझौल के पास रेल ट्रैक के ऊपर से रेलवे ओवरब्रिज बनाए जाने का प्रस्ताव भेजा गया है। इस नए रेल परियोजना में तकरीबन 1470 करोड़ रुपए से अधिक की राशि खर्च होने की उम्मीद है।

प्रथम बार कब इस परियोजना पर हुई चर्चा
45 साल पूर्व इस रेल परियोजना का सपना तत्कालीन रेल मंत्री ललित नारायण मिश्र देखा था। इसके लिए उन्होंने रेल मंत्रालय को प्रस्ताव भी दिया था। लेकिन 02 जनवरी 1975 को उनकी हत्या के बाद यह परियोजना ठंढे बस्ते में पड़ा गया। बाद में रामविलास पासवान से रेल मंत्री बनने के पर फिर से इस परियोजना पर बातचीत शुरू हुई थी। वर्ष 2012-13 के रेल बजट में बरौनी- हसनपुर रेल परियोजना के सर्वे के लिए टेंडर का आदेश जारी किया गया था।

बाद में इस रेलखंड के नेपाल तक जाने की उम्मीद
इस रेलखंड को बाद में सकरी-हसनपुर रेलखंड से जोड़ने की योजना है। जिसके बाद उत्तर बिहार सीधा दक्षिण बिहार रेलखंड से जुड़कर नेपाल के इलाके से जुड़ेगी। सकरी हसनपुर के बीच 70 किलोमीटर के रेल परियोजना पर कार्य पूर्व से ही चल रही है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आप बहुत ही शांतिपूर्ण तरीके से अपने काम संपन्न करने में सक्षम रहेंगे। सभी का सहयोग रहेगा। सरकारी कार्यों में सफलता मिलेगी। घर के बड़े बुजुर्गों का मार्गदर्शन आपके लिए सुकून दायक रहेगा। न...

    और पढ़ें