पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

बरौनी:खौफ के साए में ड्यूटी करने को मजबूर हैं रेलवे के लोको पायलट व गार्ड

बरौनी3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बरौनी में एक लोको पायलट एवं एक सहायक लोको पायलट हो चुके हैं पॉजिटिव, रेलवे के कर्मचारियों में भी है दहशत

कोविड-19 संक्रमण काल में अपनी ड्यूटी का निर्वहन करने वाले रेल कर्मियों को संक्रमण से बचाव के लिए आवश्यक सुविधा व संसाधन मुहैया करवाने का रेलवे का तमाम दावा बरौनी में छलावा साबित हो रहा है। मार्च-अप्रैल का शुरुआती दौर जब कोरोना वायरस पांव पसारना शुरू किया था।

उस समय परिचालित होने वाली मालगाड़ी व अन्य ट्रेनों में बरौनी जंक्शन से ड्यूटी पर तैनात किए जाने वाले लोको पायलट, सहायक लोको पायलट एवं गार्ड को ड्यूटी ज्वाइन करते वक्त कीट की सुविधा उपलब्ध करवाई जा रही थी। लेकिन अब जब ना केवल कोरोना चारों ओर अपना पांव फैला लिया है, बल्कि बरौनी जंक्शन में कार्यरत एक लोको पायलट व एक सहायक लोको पायलट कोरोना संक्रमित हो चुके हैं।
इस दौर में ना सिर्फ इस कीट की आपूर्ति बंद कर दिया गया है। अभी भी प्रतिदिन बरौनी से प्रतिदिन 100 से अधिक लोको व सहायक लोको पायलट के अलावे 50 से अधिक गार्डों को कोरोना संक्रमण के इस दौर में भी ड्यूटी पर ट्रेनों को लेकर लंबी दूरी की यात्रा करते हैं।
वर्तमान में सैनिटाइजिंग की क्या है व्यवस्था
काेराेना संक्रमण से बचाव के नाम पर स्टेशन पर तैनात ठेकेदार के कर्मियों द्वारा बोतल में बंद एक घोल को इंजन व गार्ड बोगी में पकड़ कर चढ़ने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले हैंडल पर बोतल के ढक्कन में किए गए छेद से छींटा जाता है। वैशाली एक्सप्रेस के गार्ड बोगी के दरवाजे पर बोतल से छिड़काव कर रहे कर्मियों के अनुसार, इस बोतल में महज पानी व ब्लीचिंग पाउडर का मिश्रण होता है। जो उसे ठेकेदार द्वारा उपलब्ध करवाया जाता है।
पहले किट दिया जाता था लेकिन अब नहीं मिलता

बरौनी में लोको पायलट के पद पर कार्यरत एवं कर्मचारी यूनियन ईसीआरक्यू के शाखा मंत्री डीएम तिवारी ने बताया कि शुरुआती दौर के अप्रैल माह में तकरीबन एक सप्ताह तक ड्यूटी पर जाते समय लोको पायलट, सहायक लोको पायलट एवं गार्ड को विभाग द्वारा एक किट दिया जाता था। जिस किट में हैंड वॉश शॉप, टिशू पेपर, हैंड सैनिटाइजर एवं दो डिस्पोजेबल मास्क उपलब्ध रहा करता था। लेकिन अब यह सुविधा भी बंद कर दी गई है।
जांच की जाएगी
चीफ क्रू कंट्रोलर सुबोध पोद्दार ने बताया कि इंजन एवं गार्ड बोगी के अंदर सैनिटाइज किए जाने की जवाबदेही स्टेशन की सफाई व्यवस्था देख रहे संवेदक की है। इंजन के सैनिटाइजिंग के निरीक्षण के लिए आउटडोर क्रू कंट्रोलर एवं गार्ड बोगी कैसेट एजिंग व्यवस्था की देखरेख के लिए डिप्टी एसएस को जवाबदेही सौंपी गई है। सैनिटाइजिंग में इस्तेमाल होने वाली मैटेरियल की जांच के लिए स्वास्थ्य निरीक्षक जवाबदेह हैं। बावजूद इसके मामला संज्ञान में आने पर वे खुद भी इसकी जांच करेंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें