पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एफआईआर दर्ज:दामाद ने ससुराल में लगाई आग, सास-बेटी की जलने से मौत, पत्नी और दो बच्चे गंभीर

बरौनी24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • तलाक होने के बाद भी ससुराल आकर पत्नी और अन्य लोगों को प्रताड़ित करता था आरोपित

बीहट बिहारी टोला निवासी मो मुख्तार ने गड़हारा सहायक थाना वार्ड संख्या 11 स्थित अपने ससुराल में पेट्रोल छिड़कर आग लगा दी। जिससे उसकी सास की जिंदा जलकर मौत हो गई। वहीं आग से झुलसने के कारण उसकी बेटी की इलाज के क्रम में मौत हो गई। घर में आग लगने के कारण उसकी तलाकशुदा पत्नी समेत तीन अन्य लोग गंभीर रूप से झुलस गए हैं।

घटना के बाद आरोपी मो मुख्तार तो मौके से फरार हो गया। लेकिन घटनास्थल पर से उसकी साइकिल, चप्पल, पेट्रोल का खाली डब्बा सहित अन्य सामान बरामद किया गया है। हालांकि देर शाम तक इस मामले में एफआईआर दर्ज करने के लिए घायल के ठीक होकर बयान देने लायक होने की स्थिति का पुलिस इंतजार करती दिखी।

घटना के संबंध में बताया जाता है कि शनिवार की देर रात करीब दो बजे सलेखा खातून के घर से आग की लपटें उठती एवं बच्चों व महिलाओं के चिल्लाने की आवाज सुनकर आसपास के लोग जुटे, तो घर का दरवाजा बाहर से बंद था। लोगों ने दरवाजा खोल कर घर के अंदर से सभी को खींच खींचकर बाहर निकाला।

तब तक आरोपी की सास 60 वर्षीय सलेखा खातुन, आरोपी की पत्नी 45 वर्षीय हलीमा खातून,16 वर्षीय पुत्री आसमां खातून, 6 वर्षीय मारूफ व नजराना खातून बुरी तरह झुलस चुकी थी। झुलसे अवस्था में चारों को सदर अस्पताल लाया गया जहां चिकित्सकों ने सलेखा को जहां मृत घोषित कर दिया। इलाज के क्रम में आसमां खातून की जहां मौत हो गई। वहीं हलीमा खातून की भी स्थिति चिंताजनक बनी हुई है।

बीहट बिहारी टोला निवासी मो. उस्मान के पुत्र मो. मुख्तार से हलीमा खातून की शादी हुई थी। लेकिन दोनों में शुरू से ही अनबन रहता था। इस दौरान 4 पुत्री एवं दो पुत्र के जन्म के बाद दोनों में बीते 4 वर्ष पूर्व तलाक हो गया। जिसके बाद से ही हलीमा अपने बच्चों को लेकर गड़हरा वार्ड संख्या 11 स्थित अपनी मां सलेखा खातून के साथ मायके में ही रहती थी। पड़ोस के लोगों के अनुसार बीते सप्ताह में गढहारा पहुंचकर झगड़ा किया था।

खबरें और भी हैं...