श्रमिक स्पेशल ट्रेन / बीमार यात्री फर्श पर बेहोश पड़ा रहा और ट्रेन सैकड़ों किलोमीटर ट्रैक पर दौड़ती रही

ट्रेन के फर्श पर बेहोश परा बीमार रेलयात्री। ट्रेन के फर्श पर बेहोश परा बीमार रेलयात्री।
X
ट्रेन के फर्श पर बेहोश परा बीमार रेलयात्री।ट्रेन के फर्श पर बेहोश परा बीमार रेलयात्री।

  • स्वास्थ्य कर्मियों ने उस बीमार रेल यात्री का इलाज नहीं समझा जरूरी

दैनिक भास्कर

Jun 02, 2020, 08:31 AM IST

बरौनी. 30 मई को आनंद विहार से पूर्णिया के लिए प्रस्थान की 04008 डाउन श्रमिक स्पेशल ट्रेन की कोच संख्या 153471 बोगी संख्या डी-6 के बर्थ संख्या 52 पर सफर कर रहे एक वृद्ध रेलयात्री की ट्रेन के आनंद विहार से प्रस्थान करने के कुछ ही समय बाद तबीयत बिगड़ गई। रास्ते में ट्रेन के अलग-अलग स्टेशनों पर रुकने पर बोगी के यात्रियों ने वृद्ध के बीमार होने की सूचना ना सिर्फ ट्रेन के गार्ड व ड्राइवर को बल्कि स्टेशन पर के आने रेल कर्मियों को भी दी। लेकिन बीमार रेल यात्री अपने बर्थ पर झटपटाता रहा लेकिन रास्ते में उसके इलाज की कोई व्यवस्था नहीं हुई।

ट्रेन के 31 मई की रात तकरीबन 9:30 बजे बरौनी जंक्शन के प्लेटफार्म संख्या 4 पर खड़ी होने के बाद बोगी के यात्रियों ने श्रमिक स्पेशल ट्रेन से आने वाले यात्रियों की स्क्रीनिंग एवं स्वास्थ्य संबंधी पूछताछ के लिए ड्यूटी पर तैनात स्वास्थ्य कर्मियों के टीम को बोगी के फर्श पर पड़े बीमार यात्री की सूचना दी। लेकिन इन स्वास्थ्य कर्मियों ने इस बीमार रेल यात्री की इलाज करने की बात तो दूर एक बार अपने काउंटर से उठ कर झांकना भी मुनासिब नहीं समझा। जिसके बाद बोगी के कुछ यात्री हो हंगामा शुरू कर दिया। हंगामा सुनकर मौके पर पहुंचे आरपीएफ के एसआई रामप्रवेश मंडल एवं अन्य सुरक्षाकर्मियों ने स्थिति से अवगत हो ना सिर्फ इसकी जानकारी अपने वरीय अधिकारियों को बल्कि उस बीमार रेल यात्री के इलाज के लिए मौके पर मौजूद स्वास्थ्य कर्मियों व रेलवे के अन्य विभागीय कर्मियों को भी दिया। बावजूद इसके स्वास्थ्य कर्मियों ने उस बीमार रेल यात्री का इलाज जरूरी नहीं समझा और तकरीबन आधे घंटे बाद 10:02 में यात्री के बिना इलाज के ही ट्रेन पूर्णिया के लिए प्रस्थान कर गई।

आनंद विहार से खुलने के बाद ही उक्त रेलयात्री छटपटाने व कराहने लगा था
ट्रेन के उसी बोगी में सफर कर रहे पूर्णिया भट्टा बाजार के सिंटू कुमार ने बताया कि ट्रेन के आनंद विहार से खुलने के बाद ही उक्त रेलयात्री छटपटाने व कराहने रहने लगा और कुछ देर बाद वह अपने बर्थ से नीचे फर्श पर गिरकर बेहोश हो गया। जिसके बाद उस कूपे में बैठे अन्य यात्री डरकर अन्य कूपे में भाग गए। के बाद जिस जिस स्टेशन पर ट्रेन रुकी अधिकांश स्टेशनों पर उन लोगों ने प्लेटफॉर्म पर तैनात सुरक्षाकर्मी व रेलकर्मी सहित ट्रेन के गार्ड व ड्राइवर को यात्री के बीमार होने की सूचना देकर इलाज की गुहार लगाते रहे।

बरौनी पहुंचने के कुछ समय बाद चिकित्सा दल को यात्री के बीमार होने की सूचना दी
गढ़हरा उपमंडलीय रेल चिकित्सालय के मेडिकल सुपरिटेंडेंट डॉ. शालिनी जैन ने बताया कि ट्रेन के बरौनी पहुंचने के कुछ समय बाद चिकित्सा दल को ट्रेन में यात्री के बीमार होने की सूचना दी गई। लेकिन जब तक चिकित्सा कर्मी मौके पर पहुंचे ट्रेन को यह कहकर बरौनी से प्रस्थान करवा दिया गया कि कटिहार में सूचना दे दी गई है। वहीं उसका इलाज करवाया जाएगा। इस कारण बरौनी में चिकित्सा दल उस बीमार रेल यात्री को अटेंड नहीं कर सके।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना