पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

परेशानी:बरबीघा में लोगों को दस घंटे भी नहीं मिल रही बिजली, जीना हुआ कठिन

बरबीघा10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पिछले कई दिनों से बरबीघा शहर में बिजली की चरमराई व्यवस्था के कारण आम जनजीवन पूरी तरह से अस्त-व्यस्त हो गया है। बरबीघा के शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल के लिए हाहाकार मचा हुआ है। मुश्किल से बरबीघा को 8 से 10 घंटा भी बिजली नहीं मिल पा रहा है उसमें भी कभी एक घंटा तो कभी 2 घंटा ही लगातार रहता है। बिजली की के कारण नल जल योजना के पानी पर आश्रित ग्रामीण तथा शहरी क्षेत्र के लोगों को घंटों इंतजार करना पड़ता है। अधिकांश चापाकल जलस्तर पूर्व में ही भाग चुका है जिस कारण यह परेशानी हो रही है।

वहीं, शहरी क्षेत्र में केरोसिन तेल बंद होने के बाद बिजली की लगातार किल्लत से इन्वर्टर डाउन होने के कारण पूरे शहर में अंधेरा छा जाता है। ऐसा माना जा रहा है कि पिछले कुछ दिनों से बरबीघा के शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्रों में बिजली व्यवस्था राजनीतिक हस्तक्षेप का अधिकार हो गया है।जब तक अकेले शेखपुरा से 33000 वोल्ट का सप्लाई मिर्जापुर फीडर को मिल रहा था तब तक लोगो को बिजली की सुचारू से मिल रहा था।

लेकिन कुछ समय पूर्व इसी फीडर से कोसरा फीडर को जोड़ गया जिससे थोड़ी बहुत परेशानी बढ़ी।  लेकिन 3 दिन पूर्व शेखपुरा के जाने माने जदयू के राजनेता के दबाव में आकर शेखपुरा विधानसभा क्षेत्र के कटारी, पचना तथा वर्मा फिडर को भी मिर्जापुर को सप्लाई होने वाले 33000 वाले तार से ही जोड़ दिया गया। लोड बढ़ने के कारण लगातार कई फीडरों में फॉल्ट हो जा रहा है।

क्या कहते हैं अधिकारी
एसडीओ अभिषेक राज ने कहा कि शेखपुरा में 12 मेगावाट का ट्रांसफार्मर लगा था। शहर में बिजली की खपत 17 मेगावाट हो गई जिस कारण वहां का फीडर काम करना बंद कर दिया। व्यवस्था को सुदृढ़ बनाए रखने के लिए बरबीघा को मिलने वाले 33000 के तार से ही उक्त तीनों फीडरों को जोड़ा गया था लेकिन व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज घर के कार्यों को सुव्यवस्थित करने में व्यस्तता बनी रहेगी। परिवार जनों के साथ आर्थिक स्थिति को बेहतर बनाने संबंधी योजनाएं भी बनेंगे। कोई पुश्तैनी जमीन-जायदाद संबंधी कार्य आपसी सहमति द्वारा ...

    और पढ़ें