पंचायत चुनाव:भगवानपुर के पंचायत चुनाव में 64% महिलाओं ने किया मतदान; वोटरों को भोज खिलाने वाले प्रत्याशी पर कार्रवाई

बेगूसराय2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भगवानपुर में मतदान कर निकलते भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री रजनीश कुमार। - Dainik Bhaskar
भगवानपुर में मतदान कर निकलते भाजपा के राष्ट्रीय मंत्री रजनीश कुमार।
  • कई केन्द्र पर भीड़ होने के कारण पुलिस ने किया बल प्रयोग

द्वितीय चरण के तहत भगवानपुर में शुरू हुए पंचायत चुनाव में बुधवार को शाम पांच बजे तक कुल 59 प्रतिशत लोगों ने वोट डाला। सबसे खास बात रही कि जितिया रहने के बाद भी पंचायत चुनाव में महिलाओं की भागीदारी पुरूषों की अपेक्षा अधिक रही। कुल मतदान में से 64 प्रतिशत मतदान केवल महिलाओं ने किया।

जबकि 54 प्रतिशत पुरूषों ने मतदान किया। मालूम हो कि मतदान के दौरान भगवानपुर पंचायत में कई जगहों पर भीड़ जमा होने, मतदाताओं को भोजन कराने की भी शिकायत मिली। जिसके बाद डीएम और एसपी अवकाश कुमार खुद पुलिस बलों के साथ मौके पर पहुंच कर कार्रवाई भी की।

ज्ञात हो कि भगवानपुर प्रखंड के महेशपुर पंचायत के मतदान केन्द्र संख्या 39,40, 41, 42 के बाहर अत्यधिक भीड़ होने के कारण पुलिस ने बल प्रयोग करते हुए सभी को खदेड़ दिया। वहीं एक प्रत्याशी के द्वारा मतदाताओं को वाहन से लाने के दौरान उसे पकड़ कर उस पर प्राथमिकी दर्ज कराई गई है।

इसके अलावे एक अन्य प्रत्याशी के टेंट पंडाल लगा मतदाता को भोजन कराया जा रहा था। जिसकी सूचना मिलने पर डीएम और एसपी अवकाश कुमार मतदाताओं को समझा बुझाकर वहां से हटाया। साथ ही टेंट पंडाल को तथा भोजन सामग्री को ज़ब्त कर तियाय थाना को कार्रवाई करने का निर्देश दिया।

वोटरों को खिलाया जा रहा था खाना, मौके पर पहुंच गए डीएम, की कार्रवाई।
वोटरों को खिलाया जा रहा था खाना, मौके पर पहुंच गए डीएम, की कार्रवाई।

महिलाओं के लिए रखा गया था खास ख्याल
जिउतिया पर्व को ध्यान में रखते हुए भगवानपुर प्रखंड के लगभग हरेक बुथो पर महिलाओं के लिए खास ख्याल रखा गया था। बुथ पर महिलाओं को पहले वोट करने की व्यवस्था की गई थी। जिसके कारण लगभग हरेक बुथ पर महिलाओं की लंबी कतार देखी गई। यही कारण भी रहा कि महिलाओं की वोटिंग प्रतिशत पुरूषो की तुलना में अधिक रही।

25 ईवीएम में आई खराबी
मतदान के शुरूआती समय में 25 ईवीएम में खराबी की शिकायत मिली। जिसके कारण वहां पर कुछ देर के लिए मतदान बाधित रहा। हालांकि शिकायत के बाद तत्काल ठीक कर दिया। साथ ही जिसे बदलने की जरूरत हुई से बदला भी गय। सिके बाद मतदान सुचारू रूप से शुरू हो सका।

खबरें और भी हैं...