पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धरना प्रदर्शन:राष्ट्रीय संपत्ति के मुद्रीकरण व निजीकरण के खिलाफ जाप ने दिया धरना, नारेबाजी

बेगूसराय11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राष्ट्रीय संपत्ति के मुद्रीकरण एवं निजीकरण के खिलाफ जाप कार्यकताओं ने सोमवार को डीएम कार्यालय के समक्ष एक दिवसीय धरना दिया। धरना का संचालन करते हुए प्रदेश महासचिव दिलीप सिंह ने करते हुए कहा कि केंद्र सरकार लगातार सरकारी संपत्तियों को पूंजीपतियों के हाथों बेच रही है, जिससे लगता है कि एक दिन देश में पूंजीपतियों की सरकार कायम हो जाएगी।

उन्होने कहा कि सार्वजनिक क्षेत्रों का पूंजीपतियों के हाथों में बेचना देश के लोगों के साथ धोखा है। मौके पर धरना की अध्यक्षता करते हुए जिला अध्यक्ष संजय यादव ने कहा कि जाप केंद्र सरकार की इस नीति का लगातार विरोध करती आ रही है और अब जनता को केंद्र एवं राज्य की एनडीए सरकार के खिलाफ गोलबंद करने का अभियान चलाएगी।

मौके पर विपिन यादव ने कहा कि रेलवे, बैंक सहित अन्य सरकारी संपत्तियों को सरकार द्वारा बेचने का निर्णय देश के एवं संविधान एवं बेरोजगारों के खिलाफ है। अब लगता ही नहीं है कि देश में लोक कल्याणकारी सरकार काम कर रही है।

धरना को संबोधित करते हुए युवा शक्ति के जिला अध्यक्ष प्रभात कुमार पिंटू ने कहा कि बिहार में भ्रटाचार एवं विफल स्वास्थ्य सेवा को लेकर पूर्व सांसद पप्पू यादव ने आवाज उठाया तो उन्हें जेल के सलाखों के अंदर कर दिया गया।

लगता है बिहार सरकार अंग्रेजों के नीति पर चल रही है। धरना को विमल महतो, डॉ एस कुमार, विजेंद्र कुमार, ओमप्रकाश साह, मुकेश कुमार, रजनीश कुमार, धर्मेंद्र ताती, रेखा देवी, राजू पासवान,बिरजू कुमार, प्रखंड अध्यक्ष सोनू सिंह आदि ने संबोधित किया।

खबरें और भी हैं...