• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Begusarai
  • Big Durga Mata Patt Opened At Four O'clock In The Morning, Long Line To Fill The Gap, The Market Was Not Punished, Enthusiasm At Its Peak

दुर्गापूजा:सुबह चार बजे खुला बड़ी दुर्गा का माता पट, खोंइछा भरने के लिए लगी लंबी लाइन, बाजार नहीं सजा, उत्साह चरम पर

बेगूसराय2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कर्पूरी स्थान चौक के पास माता का प्रतिमा - Dainik Bhaskar
कर्पूरी स्थान चौक के पास माता का प्रतिमा
  • मेले को लेकर रूट निर्धारण, बाजार के रास्ते वाहन ले जाने पर प्रतिबंध, पंडालों में मास्क अनिवार्य
  • अस्थाई दुकान नहीं लगने के कारण स्थाई दुकानों के आगे ही सजा खाने-पीने का स्टाॅल, लोगों की जुट रही है भीड़

बुधवार को बड़ी दुर्गा मंदिर का पट खुलते ही शहर के अधिकांश दुर्गा मंदिरों में माता के दर्शन शुरू हो गए। इस दौरान पूरी रात पूरे शहर में लोगों की चहल-पहल देखी गई। खासकर बड़ी दुर्गा मंदिर के पास मेला लगा रहा। इस दौरान पूरी रात फूल प्रसाद और चढ़ावा की दुकानें खुली रही।

हालांकि कुछ दुर्गा मंदिरों में बुधवार की रात माता के मंदिर का पट खोला गया। मालूम हो कि पूरानी परंपरा के अनुसार बड़ी दुर्गा मंदिर में मंगलवार की शाम से भजन-कीर्तन के बाद मानर गाकर माता के जागरण की तैयारी शुरू हुई। ज्ञात हो कि हर वर्ष रात के बारह बजते ही माता के जयकारों से पट खुलता था। लेकिन इस साल सुबह के चार बजे तक मानर की टोल मानर गाते रहे, ठीक चार बजे सुबह माता का पट खोला गया।

खोयंछा भरने के लिए काफी संख्या में महिलाएं आती है
मालूम हो बड़ी दुर्गा मंदिर में मान्यता के अनुसार मन्नत और अटूट श्रद्धा के कारण खोयंछा भरने के लिए काफी संख्या में महिलाएं आती है। जिसके कारण मंगलवार को भी दस बजे रात से ही खोयंछा भरने महिलाएं आनी शुरू हो गई। यहीं सिलसिला सुबह होने तक जारी रही।

सुबह के चार बजते ही खोयंछा भरने का कार्यक्रम शुरू हो गया। इस दौरान महिलाओं की लंबी लाइन लग गई। भले ही शहर में इस बार दुकानें नहीं सजी है। लेकिन लोगों में उत्साह चरम पर है। मंगलवार की शाम पट खुलने के बाद बुधवार की सुबह से ही बाजार में लोगों की भीड़ काफी देखी गई। वहीं शाम होते ही प्रतिमा देखने के लिए भी लोगों विभिन्न मंदिर पहुचे। मालूम हो कि अस्थाई दुकानें नहीं लगने के कारण इस बार स्थाई दुकान में ही खाने-पीने का स्टाॅल सजाया गया है।

  • मंगलवार की शाम पट खुलने के बाद बुधवार की सुबह से ही बाजार में लोगों की भीड़ काफी देखी गई।
  • पूरी रात फूल प्रसाद और चढ़ावा की दुकानें खुली रही।
  • अस्थाई दुकानें नहीं लगने के कारण इस बार स्थाई दुकान में ही खाने-पीने का स्टाॅल लगा।

हेमरा से काली स्थान के रास्ते भी वाहन से नहीं आ सकेंगे लोग
अगर आप वाहन से मेला देखने निकले हो तो आपको शहर के विभिन्न रूटों की जानकारी होना बहुत ही आवश्यक है। जीडी कॉलेज की तरफ से जाने वाले लोगों को पटेल चौक होते हुए कॉलेजिएट की तरफ से जाना होगा। जबकि बाजार की तरफ से कोई वाहन नहीं जाएगी।

इसी तरह पटेल चौक के तरफ से किसी भी प्रकार के वाहन के जाने पर पाबंदी लगाई गई है। इसके अलावा पटेल चौक और कर्पूरी स्थान से पावर हाउस के बीच रास्ते को वन- वे किया गया है। जबकि कर्पूरी स्थान से हीरा लाल चौक से और मस्जिद चौक की तरफ से वाहन जा सकेगी।

इसी तरह नगर थाना चौक से काली स्थान के तरफ वन-वे रहेगा। जबकि काली स्थान और ट्रैफिक चौक से आने वाले वाहन को पोखरिया के रास्ते से निकलना होगा। बड़ी पोखर की तरफ से गली से वाहन नहीं जाएगी। वही नवाब चौक और काली स्थान के तरफ के रास्ते को वन-वे किया गया है।

हेमरा के तरफ से वाहन के आने पर रोक लगाई गई है। इस रूट में काली स्थान चौक के तरफ नो एंट्री रहेगी। एनएच से विष्णुपुर की तरफ तीन पहिया और उससे बड़ी वाहन की नो एंट्री रहेगी।

यातायात व्यवस्था बेहतर करने को लेकर रूट निर्धारित किया गया है
एसपी अवकाश कुमार ने कहा है कि दुर्गा पूजा के अवसर पर विभिन्न स्थानों पर मां दुर्गा की प्रतिमा स्थापित होने के कारण यातायात व्यवस्था बेहतर करने को लेकर रूट निर्धारित किया गया है। उन्होंने कहा है कि रूट निर्धारन के साथ ही सभी प्रमुख स्थानों पर पुलिस पदाधिकारी और पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति की है।

खबरें और भी हैं...