पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

एसपी ऑफिस पर माकपाईयों ने की प्रदर्शन:पुलिस अपराधी गठजोड़ व नयागांव थाना में भ्रष्टाचार के खिलाफ माकपाईयों का प्रदर्शन

बेगूसराय14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
पुलिस अपराधी गठजोड़ के खिलाफ प्रदर्शन करते माकपा नेता। - Dainik Bhaskar
पुलिस अपराधी गठजोड़ के खिलाफ प्रदर्शन करते माकपा नेता।
  • नयागांव थाना की पुलिस अपराधियों के साथ गठजोड़ कर लोगों पर झूठा मुकदमा कर रही है

बेगूसराय में पुलिस अपराधी गठजोड़ और थाना में व्याप्त भ्रष्टाचार का आरोप लगा सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों ने एसपी ऑफिस पर प्रदर्शन कर पुलिस के खिलाफ नारेबाजी की। माकपा नेता अंजनी सिंह के नेतृत्व में सोमवार को नयागांव थाना क्षेत्र के सैकड़ों लोग एसपी ऑफिस पहुंच पुलिस के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

प्रदर्शन कर रहे लोगों का आरोप है कि नयागांव थाना कि पुलिस अपराधियों के साथ गठजोड़ कर आम लोगों पर झूठा मुकदमा दर्ज कर परेशान करने का काम कर रही है। थाना क्षेत्र में दर्जन भर से अधिक ऐसे मामले हैं जिसमें दबंगों की साथ पुलिस मिलीभगत कर गरीब को परेशान किया जा रहा है।

ऐसे में थाना में तैनात दरोगा अजय राय को अविलंब बर्खास्त करने , निर्दोष लोगों पर झूठा मुकदमा वापस लेने, थाना में कमीशन खोरी और रिश्वतखोरी पर रोक लगाने सहित कई मांगों को लेकर विरोध प्रदर्शन किया गया। माकपा नेता अंजनी सिंह ने कहा कि आज पुलिस रक्षक नहीं भक्षक बन गई है और भ्रष्टाचार की वजह से लगातार गरीबों का शोषण किया जा रहा है।

माकपा नेता अंजनी कुमार सिंह ने कहा कि नयागांव थाना के अधिकांश पदाधिकारी खासकर दरोगा अजय राय अपनी संवैधानिक भूमिका को खोकर कमीशन पहुंचाने वाले एजेंटों की गिरफ्त में आरक्षी सेवा के तमाम मर्यादाओं को तिलांजलि दे चुके हैं।

उन्होंने कहा कि दरियापुर के रंजीत यादव गिरोह के जानलेवा हमलों से घायल दरियापुर पंचायत के वार्ड नंबर 8 के पुनर्वासित सरकारी टोला निवासी उपेंद्र शर्मा एवं संजय राय जब प्राथमिकी दर्ज कराने नयागांव थाना पहुंचे तो थाना के पदाधिकारी घायल पीड़ितों की गुहार को सुनने के बजाय उन्हें गाली गलौज देते हुए धक्का देकर थाना परिसर से भगा दिया।

और उपेंद्र शर्मा एवं संजय राय के ऊपर मनगढ़ंत धाराओं के तहत झूठा मुकदमा दर्ज कर लिया गया। माकपा नेता सुरेश प्रसाद सिंह ने कहा कि हमलावर अपराधियों के विरुद्ध किसी प्रकार का कानूनी कार्यवाही ना किया जा सका जो कि अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण एवं शर्मनाक है। दबंगों के पक्ष में नयागांव थाना द्वारा कार्य करना चिंताजनक कार्यशैली है।

प्रदर्शन उपरांत नौ सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल आरक्षी अधीक्षक को मांग पत्र सौंपा और नयागांव थाना के कार्यशैली की गहन जांच कर कार्रवाई की मांग की, नहीं तो आगे उग्र आंदोलन की चेतावनी दी। मौके पर वकील राम,मो कलीम, मजदूर नेता सत्यनारायण रजक, असंगठित कामगार यूनियन नेता कार्तिक पासवान,शिवराम पंडित, जनवादी महिला नेतृ सीता देवी, प्रमिला देवी, मीरा देवी, मीना देवी आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...