पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Begusarai
  • Empty Room Found In The Name Of Lab, Some Useless Goods Kept In Carton, The Government Gave Five Lakh And Three Lakh Rupees For The Development Of Practical Education

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

स्कूलों में लैब घोटाला:लैब के नाम पर मिला खाली कमरा, कार्टन में बंद कुछ बेकार सामान, प्रायोगिक शिक्षा के विकास के लिए सरकार ने दिए थे पांच लाख और तीन लाख रुपए

बेगूसराय4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रयोगशाला: कागज पर पूरी है, लेकिन स्कूल में अधूरी है
  • लैब के उपकरणों और सामान की समुचित खरीद किए बगैर दर्जनों स्कूलों के एचएम ने जमा कर दी खरीद की रिपोर्ट

(संदीप कुमार) जिले के 204 माध्यमिक और उच्चतर माध्यमिक विद्यालयों को प्रायोगिक शिक्षा के विकास मद में मिले आठ करोड़ 36 लाख की राशि विद्यालय प्रधान, शिक्षा विभाग के अधिकारियों तथा आपूर्ति एजेंसी की तिगड़ी की भेंट चढ़ गई है। लैब उपकरणों व रसायनों के खरीदारी दिखाकर आवंटित राशि का वारा न्यारा कर दिया गया है।

हालत यह है कि अधिकतर स्कूलों का प्रयोगशाला आज की तिथि में या तो शिक्षकों का आराम गृह बना है या वहां के बेंच और टेबल पर धूल की मोटी परत जम गई है। अधिकांश स्कूलों में प्रयोगशाला के नाम पर खरीदे गए दिखावटी सामान कहीं एक रूम में बिखरे पड़े हैं तो कहीं आलमीरा में कार्टन में बंद हैं।
कुल 8 करोड़ 26 लाख की राशि विभाग ने दी थी
जिले में 92 माध्यमिक और उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय, 50 उच्चतर माध्यमिक विद्यालय को प्रयोगशाला और उपस्कर मद में 5 करोड़ 26 लाख की राशि आवंटित की गई थी। जबकि 62 उत्क्रमित माध्यमिक विद्यालय में केवल प्रयोगशाला उपस्कर मद की राशि के रुप में तीन करोड़ एक लाख रुपए आवंटित की गई थी।

तीन स्कूलों को छोड़कर सभी स्कूलों ने दी गई राशि की उपयोगिता यानि की सामान खरीदारी तथा लैब विकसित करने का प्रमाण पत्र शिक्षा विभाग को जमा कर दिया। लेकिन जिस तीन विद्यालयों ने उपयोगिता प्रमाण पत्र जमा नहीं किया, उनसे जब इस संबंध में जानकारी हासिल की गई तो विभाग को पूरे गड़बड़ झाले का पता चला। विभाग ने जब अंदरूनी स्तर पर इसकी जांच करवाई तो पता चला कि अधिकतर विद्यालयों में प्रयोगशाला के नाम पर रुपयों का बंदरबांट किया गया है।
ये सब खरीदना था
नौवी और दसवीं कक्षा के लिए फिजिक्स से संबंधित प्रयोग के लिए 60 प्रयोगशाला उपकरण, गैस और वाटर कनेक्शन युक्त दो फिजिक्स टेबल, दो फिजिक्स स्टोरेज कैबीनेट, दो स्टील आलमीरा और दस स्टूल खरीदनी थी।

रसायन से संबंधित प्रयोग के लिए 49 प्रयोगशाला सामाग्री, 46 प्रकार के रसायन, और कैमिकल्स के अलावे दो स्टोरेज कैबिनेट, गैस बर्नर, सिंक, वाटर कनेक्शन और वास युक्त कैमिकल सफेर्स फिटेड दो टेबल, एक ग्लास, वुडेन आलमीरा और दस टेबल, इसी तरह वायोलॉजी के लिए 56 प्रकार की सामाग्री, जिसमें म्युजियम, डीएनए, आरएनए का मॉडल, ह्यूमेन स्टेक्चर सहित अन्य कई प्रकार के मानव शरीर रचना से संबंधित स्टेक्चर और अन्य सामाग्री खरीदनी थी।

इसके साथ ही 31 प्रकार के कैमिकल, कैमिकल्स के अलावे दो स्टोरेज कैबिनेट, गैस बर्नर, सिंक, वाटर कनेक्शन और वास युक्त कैमिकल सफेर्स फिटेड दो टेबल, एक ग्लास, वुडेन आलमीरा और दस टेबल खरीदनी थी।

94 प्रकार की सामग्री खरीदनी थी
इसी तरह हाई सेकेन्ड्री स्कूलो में फिजिक्स लैब के लिए 99 तरह की समाग्री, पानी और बिजली कनेक्शन युक्त दो फिजिक्स टेबल, दो फिजिक्स स्टोरेज कैबिनेट, दो स्टील आलमीरा और 10 टेबल खरीदना था। कैमेस्ट्री के लिए 94 प्रकार की सामाग्री, 91 प्रकार के कैमिकल, छह प्रकार के चार्ट पेपर के अलावे तीन स्टोरेज कैबिनेट, गैस बर्नर, सिंक, वाटर कनेक्शन और वास युक्त कैमिकल सफेर्स फिटेड तीन टेबल, दो ग्लास, वुडेन आलमीरा और 30 स्टूल खरीदनी थी। वायोलॉजी के लिए 71 प्रकार की समाग्री, 51 प्रकार के कैमिकल और फर्नीचर खरीदनी थी।

खरीद मामले की जांच की जाएगी: डीईओ

प्रयोगशाला सामाग्री और उपस्कर खरीद मामले को लेकर अब इसकी गंभीरता से जांच कराई जाएगी। इसके लिए अब एक बैठक बुलाई गई है। जिसमें एचएम और संबंधित आपूर्ति एजेसी को बुलाया गया है। सबों से उपयोगिता जमा करने से लेकर सप्लाई करने के तरीके के बारे में पुछताछ की जाएगी। रजनीकांत प्रवीण,जिला शिक्षा पदाधिकारी

केस-एक: चादर, तकिया व गद्दा लगा था
खोदावंदपुर प्रखंड स्थित किसान प्लस टू तारा बरियारपुर यहां प्रयोगशाला को शिक्षको ने अपना आवास बना रखा है। प्रयोगशाला में उपकरण, माइक्रोस्कोप, परखनली की जगह चादर, तकिया और गद्दा लगा हुआ था। जिस बैंच पर प्रयोग होता है उस पर बांस की सीढ़ी रखी हुई थी। कुछ प्रयोगशाला का सामान यत्र-तत्र बिखरा था।

केस-दो: ईधर-उधर रखा है उपस्कर
श्री दुर्गा प्लस टू विद्यालय मेघौल में विज्ञान विषय से जुड़े उपस्कर एवं यंत्रों की खरीद तो हुई, परंतु यह भी शोभा की वस्तु बनी है। विद्यालय प्रधान मधुसूदन पासवान ने बताया कि स्कूल को आवंटित पांच लाख की राशि से साइंस एंड सर्जिकल से प्रयोगशाला के लिए उपस्कर व यंत्रों की खरीद की गई है।

केस-तीन: आलमारी में बंद है सामान
प्रयोगशाला का सामान खरीदा गया। मगर वह कार्टन में बंद था, जो कभी कार्टन से बाहर ही निकला है। प्रोजेक्ट कन्या प्लस टू विद्यालय दशरथपुर प्रयोगशाला के लिए अलग कक्ष बना हुआ था, खरीद की गई सामग्री टेबल पर रखी हुई थी और कुछ सामग्री तीन आलमारी में भरे हुए थे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आपने अपनी दिनचर्या से संबंधित जो योजनाएं बनाई है, उन्हें किसी से भी शेयर ना करें। तथा चुपचाप शांतिपूर्ण तरीके से कार्य करने से आपको अवश्य ही सफलता मिलेगी। परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर ज...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser