पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बेगूसराय में 5 बच्चों की डूबकर मौत:10 फीट गहरे चंवर में नहाने थे गए पांचों, डूबते वक्त मचाया शोर; लोगों के पहुंचने से पहले मौत से हारी जंग

बेगूसराय3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
घटना के बाद रोते-बिलखते परिजन। - Dainik Bhaskar
घटना के बाद रोते-बिलखते परिजन।

बेगूसराय से इस वक्त बड़ी खबर सामने आ रही है, जहां करीब 10 फीट गहरे चंवर में स्नान करने गए 5 बच्चे डूब गए। इसमें से 4 बच्चों की मौत मौके पर ही हो गई, जबकि एक ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। घटना बखरी थाना क्षेत्र के रामपुर इटवा चौड़ है। सोमवार दोपहर पांचों बच्चे स्नान करने चंवर गए थे, इसी दौरान बच्चे गहराई में चले गए। पानी में डूब रहे बच्चों ने मदद के लिए शोच मचाया लेकिन जब तक लोग वहां पहुंचते बच्चे डूब चुके थे। स्थानीय लोगों ने तैराकों की मदद से सभी बच्चों को चंवर से बाहर निकला। इनमें से एक बच्चे की सांस चल रही थी। आननफानन में उसे स्थानीय अस्पताल में भर्ती करवाया गया, जहां उसने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। मरने वाले सभी बच्चे 8 से 12 साल के थे।

बच्चों की मौत की खबर से इलाके में सनसनी फैल गई है। चंवर के पास लोगों की भीड़ जुट गई। मृतक की पहचान बखरी थाना क्षेत्र के घघरा गांव निवासी अनुकुल पासवान के पुत्र अनुज कुमार (10), लूटन साह के पुत्र रजनीश कुमार (12), इंद्रदेव महतो के पुत्र अभिषेक कुमार (9), बिंदेश्वरी ठाकुर के पुत्र चैंपियन कुमार (8) और शिवजीत ठाकुर के पुत्र संतोष कुमार (8) के रूप में हुई है।

घटना के बाद चंवर की ओर जाते ग्रामीण।
घटना के बाद चंवर की ओर जाते ग्रामीण।

इधर, घटना की सूचना मिलते ही पुलिस व प्रशासन मौके पर पहुंच गई। पुलिस ने सभी बच्चों की लाशों को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। बखरी के अंचाधिकारी नितिन कुमार ने बताया कि सभी स्नान करने गए थे, इसी दौरान डूबकर पांचों की मौत हो गई। पीड़ित परिवार को उचित मुआवजा प्रदान किया जाएगा। घटना के बाद मृत बच्चों के घर में कोहराम मच गया है। घरवालों का रो-रोकर बुरा हाल है।

परिजनों के अनुसार अभिषेक अपनी साइकिल से अन्य 4 दोस्तों के साथ सोमवार दोपहर घर से बाहर खेलने के लिए निकला था। इसी दौरान चंवर को देख बच्चों ने अपने-अपने कपड़े उतार साइकिल पर रख दी। पांचों नहाने के लिए चंवर में उतर गए। इसी दौरान गहाराई जाने से पांचों डूब गए। बच्चों ने जब शोर तो लोग वहां पहुंचे। लेकिन बच्चे चंवर में नहीं दिखे। लोगों साइकिल पर रखे कपड़े को देखकर बच्चों के डूबने का अनुमान लगाया। इसके बाद जबकर तैराक चंवर में कूदकर बच्चों को बाहर निकालते तबतक काफी देर हो चुकी थी। 4 बच्चों ने दम तोड़ दिया था। वहीं एक बच्चे की जान इलाज के दौरान गई।