टूटने लगा एक गांव से दूसरे गांव का संपर्क:गंगा खतरे के निशान से 50 सेंटीमीटर ऊपर, बाढ़ का संकट गहराया

शाम्हो5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
शाम्हो में पानी बढ़ने से डूबे ट्रैक्टर को बाहर निकालता जेसीबी। - Dainik Bhaskar
शाम्हो में पानी बढ़ने से डूबे ट्रैक्टर को बाहर निकालता जेसीबी।

प्रखंड में बाढ़ का खतरा बढ़ने लगा है। गंगा के जलस्तर में बढ़ोतरी के कारण एक गांव से दूसरे गांव का सड़क संपर्क टूटने लगा है। अकबरपुर चालीस और सिसबन्नी के बीच सड़क में आईटीसी मिल्क चिलिंग प्लांट के नजदीक टूटी पुलिया के निकट सड़क में अत्यधिक पानी हो जाने के कारण यातायात बाधित हो गई है।

डूबने से बचा ट्रैक्टर चालक
अत्यधिक पानी के बहाव के कारण इस जगह पर ट्रैक्टर चालक डूबते-डूबते बचा। जिसे लोगों की मदद से बचाया गया। टोटहा ग्राम निवासी राकेश कुमार ट्रैक्टर लेकर इस रास्ते को पार कर रहे थे कि अचानक ट्रैक्टर गहरी खाई में जा गिरा। मौके पर लोगों ने पहुंचकर डोरी की मदद से राकेश कुमार को बचाया। जबकि ट्रैक्टर को जेसीबी की मदद से बाहर निकाला गया।

इसी तरह सोनबरसा नयापुरा के बीच बन रहे पुल के निकट सड़क पर पानी का बहाव हो गया है। सरलाही से अकहा कुरहा जाने के रास्ते पुल के पूर्वी छोर पर सड़क पर पानी का बहाव हो गया है जिससे सड़क संपर्क भंग हो गया है। जल स्तर में वृद्धि के कारण प्रतिदिन सैकड़ों बीघा सोयाबीन और मक्का की फसल डूब रही है जिससे किसानों को भारी नुकसान का सामना करना पड़ रहा है पशुपलकों को चारा की समस्या हो गई है।

लोगों ने की नाव की मांग
टोटहा निवासी सोनू कुमार ने कहा कि जिस पुलिया के निकट ट्रैक्टर चालक डूबने से बचा वहां एक बड़ी नाव की सख्त जरूरत है। जिससे लोगों को सहूलियत होगी अकहा कुरहा निवासी वार्ड सदस्य नित्यानंद यादव ने कहा कि लोगों को प्रखंड मुख्यालय अस्पताल और थाना जाने में समस्या शुरू हो गई है नाव की वैकल्पिक व्यवस्था अनिवार्य है।

अंचलाधिकारी प्रभात कुमार ने कहा कि जिस जगह पर ट्रैक्टर चालक डूबते डूबते बचा, लोगों की मांग पर वहां नाव की व्यवस्था तत्काल कर दी गई है। अंचलाधिकारी ने कहा कि स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। बाढ़ की रिपोर्टिंग ले रहे हैं और स्थिति का जायजा भी ले रहे हैं। जहां पर नाव की जरूरत होगी, लोगों की सुविधा के लिए वहां अविलंब नाव दी जाएगी।

खबरें और भी हैं...