पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Begusarai
  • In Durgapuja, There Is No Exemption To Make Pandals On The Theme, Not Even Distribution Of Mass Offerings; Election Meetings Are Allowed, There Can Be Stage And Pandals

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लोक के पर्व पर रोक, तंत्र को छूट:दुर्गापूजा में थीम पर पंडाल बनाने की छूट नहीं, सामूहिक प्रसाद वितरण भी नहीं; चुनावी सभा की अनुमति है, वहां स्टेजऔर पंडाल बन सकते हैं

बेगूसरायएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • प्रशासन की रोक के कारण पंडाल निर्माताओं में मायूसी, उनका कारोबार प्रभावित होगा

बिहार विधानसभा चुनाव के बीच संपन्न हो रहे शारदीय नवरात्र महोत्सव पर राज्य सरकार व जिला प्रशासन द्वारा लगाए गए कई तरह की पाबंदियां लगा दी गई है। इससे पूजा समिति और लोगों में काफी नाराजगी देखी जा रहा है। जहां चुनावी सभा, जनसंपर्क रैली, जुलूस निकालने की छूट दी गई है। वहीं दुर्गा पूजा में किसी भी प्रकार के आयोजन पर रोक लगाई गई है।

इतना ही नहीं पूजा स्थल के आसपास किसी भी प्रकार के लाइटिंग पर भी रोक लगा दी गई। बताते चले कि सरकार और जिला प्रशासन द्वारा जारी गाइडलाइन में मंदिर परिसर में पूजा पंडाल का निर्माण किसी विशेष थीम पर नहीं करने, कोई भी तोरण व स्वागत द्वार नहीं बनाने, जिस स्थान पर मूर्तियां रखी गई है, उस स्थान को छोड़कर शेष भाग खुला रखने।

सार्वजनिक उद्घोषणा प्रणाली का उपयोग नहीं करने, किसी प्रकार के मेला का आयोजन नहीं करने, प्रसाद का वितरण नहीं करने, पूजा स्थल के आसपास खाद्य पदार्थ का स्टॉल नहीं लगाने, विसर्जन जुलूस नहीं निकालने, किसी भी सार्वजनिक स्थल होटल, क्लब पर गरबा, डांडिया व रामलीला का आयोजन नहीं करने सहित कई तरह की पाबंदियां लगाई गई है। इतना ही नहीं जारी गाइडलाइन का उल्लंघन करने वाले पर आपदा प्रबंधन अधिनियम धारा 51-60 के प्रावधानों के अतिरिक्त धारा 188 एवं अन्य धाराओं में कानूनी कार्रवाई करने की बात कहीं गई है।

आम लोगों ने कहा- चुनाव और पूजा को लेकर दोहरी नीति अपना रहा है सरकार व प्रशासन
लोहिया नगर निवासी राजन सिन्हा ने कहा कि जब चुनाव में रैलियां हो सकती हैं तो पूजा पंडाल का निर्माण क्यों नहीं हो सकता है। प्रसाद का वितरण क्यों नहीं हो सकता है। अविनाश कुमार, राघव कुमार ने कहा कि चुनावी रैली, जनसंपर्क, मतदान समेत सभी काम में छूट दी गई है।

लेकिन दुर्गा पूजा में प्रसाद वितरण, पंडाल निर्माण, पूजा स्थल पर भीड़ नहीं जुटने समेत कई पाबंदियां लगाई गई है। अभिषेक आनंद, अमित कुमार, उन्होंने कहा कि सरकार और जिला प्रशासन भेदभाव कर रही है चुनाव और पूजा को लेकर दोहरी नीति अपना रही है। क्या चुनाव सभा, रैली, जुलूस में होने वाला भीड़ से कोरोना नहीं फ़ैलेगा।
पंडितों की राय
पंडित रिपुसूदन ठाकुर, जय कुमार आदि के कहा कि पूजा पंडाल या मूर्ति बनाने में किसी भी तरह की पाबंदी नहीं लगानी चाहिए। यदि दुर्गा पूजा में पंडाल नहीं बन सकते तो चुनाव में भी नहीं बनने चाहिए। दुर्गा पूजा में भीड़ नहीं जुटनी चाहिए तो चुनावी सभा में भी यह नियम लागू होना चाहिए।
बिजली और साफ-सफाई की क्या है तैयारी
नगर निगम उपनगर आयुक्त अरुण कुमार ने बताया कि मंदिर परिसर और आसपास की सफाई की विशेष व्यवस्था की गई। इसके लिए सभी रजिस्टर्ड समिति को 50 केजी चूना, 25 केजी ब्लीचिंग और सुबह शाम सफाई के लिए 2 सफाई कर्मी की नियुक्ति की गई है। वहीं बिजली विभाग के कार्यपालक अभियंता किशोर कुमार सिंह ने बताया कि कनेक्शन के लिए अभी तक एक भी पूजा समिति द्वारा आवेदन नहीं किया गया है, अगर कोई समिति बिजली कनेक्शन लेना चाहता है तो उन्हें बिजली आपूर्ति की जाएगी।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें