पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

दुर्गापूजा:किरण सार्वजनिक दुर्गा मंदिर में 1008 स्वरूपों वाली माता का होगा दर्शन, खोंयछा घर से लाएं

बेगूसराय12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बेगूसराय में किरण सार्वजनिक दुर्गापूजा समिति द्वारा कराया जा रहा है निर्माण।
  • पिछले वर्ष की तरह ही शहर में बन रही है माता की प्रतिमा, चट्‌टी रोड में भी बन रही आकर्षक प्रतिमा
  • विसर्जन 26 या 27 अक्टूबर को होगा, इसको लेकर प्रशासन और पूजा समिति में असमंजस

कलश स्थापना के साथ ही जिले भर में दुर्गा पूजा शुरू हो चुकी है। मंदिरों में माता की प्रतिमा को अब अंतिम रूप दिया जा रहा है। कोरोना के कारण इस शहर के अंदर कहीं भी प्रतिमा के अलावे अन्य कुछ भी नहीं बनाया जा रहा है। हालांकि विभिन्न मंदिरों में पिछले साल की तरह ही जगह-जगह माता की भव्य और आकर्षक प्रतिमा बनाई जा रही है। शहर के विष्णुपुर स्थित किरण सार्वजनिक दुर्गा पूजा समिति, बीएमपी-8 और चट्टी रोड में पिछले साल की तरह ही आकर्षक प्रतिमा बनाई जा रही है। जो इस साल भी आकर्षण का केन्द्र होगा। शहर के अंदर भले ही माता की भव्य प्रतिमा बनाई जा रही है। लेकिन पूजा और विसर्जन को लेकर अब भी विभिन्न पूजा समितियों के बीच अब भी असमंजस की स्थिति बनी हुई है। एक तरफ जहां जिला प्रशासन ने 26 को ही विसर्जन करने का आदेश दिया है। वहीं पूजा समितियों का कहना है कि शास्त्रों और नियम के तहत 26 को विसर्जन नहीं हो सकता है। हालांकि इसके चार दिन पहले नगर दुर्गा पूजा समिति ने डीएम के विचार करने को लेकर पत्र लिखा है, लेकिन अबतक डीएम अरविंद कुमार वर्मा की तरफ से कोई जबाव नहीं आया है।

मान्यता के हिसाब से शहर में सबसे ज्यादा महत्व बड़ी दुर्गा माता का है

मान्यता के हिसाब से शहर में सबसे ज्यादा महत्व बड़ी दुर्गा माता को जाता है। उनकी प्रतिमा उठने बाद ही शहर में किसी अन्य माता की प्रतिमा मंदिर से उठती है। विशेष मान्यता के कारण यहां पूजा का भी महत्व ज्यादा है। यहां हर साल खोंयचा भरने के लिए भक्तों की लंबी लाइन लगती थी। लेकिन इस साल ऐसा नहीं होगा। मंदिर के अध्यक्ष राम प्रताप चौधरी ने बताया कि कोविड-19 को लेकर इस साल श्रद्धालु महिलाओं को खोंयचा घर से तैयार करने के लिए कहा जा रहा है। मंदिर के गेट पर ही बांस लगा रहेगा। यहां आकर महिला अपना खोंयचा देगी जिसके बाद मंदिर की तरफ से उन्हें प्रसाद दिया जाएगा। मंदिर के अंदर खोंयचा भरने पर इस साल पाबंदी रहेगी। बड़ी माता के मंदिर के आगे सजावट तो नहीं होगी। लेकिन लोगों की सुविधा को लेकर पटेल चौक तक लाइटिंग की व्यवस्था की जाएगी। विसर्जन को लेकर भी बड़ी दुर्गा मंदिर के अध्यक्ष ने बताया कि जिला प्रशासन कहती है, 26 को ही विसर्जन करें लेकिन शास्त्रों के अनुसार ऐसा संभव नहीं है। उन्होंनें कहा कि अगर रात में भी विसर्जन करते हैं तो शहर में बड़ी पोखर की स्थिति फिलहाल ऐसी नहीं है कि वहां रात में विसर्जन किया जा सके। पोखर में इतना पानी है कि कभी कोई दुर्घटना हो सकती है। हालांकि उन्होंनें कहा कि उनकी तरफ से डीएम को 27 की सुबह में प्रतिमा विसर्जन की मांग की गई है। बाकी का निर्णय बाद में लिया जाएगा।

मंदिर के बाहर नहीं की जाएगी सजावट
हर वर्ष की तरह इस साल भी किरण सार्वजनिक दुर्गापूजा समिति द्वारा माता की आकर्षक और भव्य प्रतिमा बनाई जा रही है। इस संबंध में समिति के विजय झा ने बताया कि अन्य वर्षों की भांति इस साल मंदिर के बाहर ना तो प्रतिमा बनाई जाएगी, ना ही सजावट किया जाएगा। उन्होंनें बताया कि अपने परंपरा के हिसाब से मंदिर में 1008 स्वरूपों में माता दिखाई देगी। जो अपने में नवीनतम होगा। मंदिर में माता के सभी स्वरूपों के सामने उनका नाम भी लिखा होगा। साथ ही पूरी प्रतिमा सुनहले रंगों की होगी जो रात में काफी प्रकाशमान होगी। इसके अलावे शहर के चट्टी रोड में भी माता की भव्य प्रतिमा बनाई जा रही है। यहां हर बर्ष की तरह ही इलेक्ट्रॉनिक साउंड सिस्टम लगाया जाएगा। जिसके जरिए सिंह गर्जन, जंगल का दृश्य, बादल की गरज, बारिश होने और महिषासुर वध को आवाज आएगी। जबकि अन्य मंदिरों में भी भव्य प्रतिमा बनाई जा रही है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- किसी अनुभवी तथा धार्मिक प्रवृत्ति के व्यक्ति से मुलाकात आपकी विचारधारा में भी सकारात्मक परिवर्तन लाएगी। तथा जीवन से जुड़े प्रत्येक कार्य को करने का बेहतरीन नजरिया प्राप्त होगा। आर्थिक स्थिति म...

और पढ़ें