पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

गंगा स्नान बना कारण:हथिदह से लेकर जीरोमाइल तक 48 घंटे से लगा महाजाम, एक की दम घुटने से हुई मौत

बेगूसराय/बीहट2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुलिस, सीआईएसएफ जवान ने भी की जाम हटाने की कोशिश, पर नहीं मिली सफलता
  • जिला प्रशासन की नहीं थी कुछ भी तैयारी, जाम हटाने में भी रहा फेल, लाखों लोग फंसे
  • श्रद्धालुओं का हुजूम ही जाम का कारण शारदीय नवरात्रि के पहले दिन गंगा स्नान करने पहुंचे श्रद्धालुओं से ही लगा ये भीषण जाम

जिले में अबतक का सबसे बड़ा जाम लग गया है। शारदीय नवरात्रि शुरू होने से पहले ही सिमरिया गंगा तट पर जाने वाले रास्ते में भीषण जाम लग गया है। गाड़ियों का रेला ऐसा है कि हथिदह से लेकर जीरोमाइल तक केवल गाड़िया ही गाड़िया दिख रही हैं और गाड़ियों में सवार लोगों की बेसब्र आंखें ऐसे देख रही हैं जैसे मानो कहीं यह उनका अंतिम सफर नहीं हो। बता दें कि शनिवार को जाम के झाम में फंसकर दम घुटने से एक व्यक्ति की मौत भी हो गई है। जाम कब छूटेगा इसकी जानकारी किसी के पास नहीं है। पुलिस-प्रशासन के पास जाम हटाने का कोई इंतजाम तक नहीं है। प्रयास किया पर विपल रहे।

उत्तरवाहिनी सिमरिया गंगा तट पर स्नान को लेकर हथिदह से लेकर जीरोमाइल तक 48 घण्टे से लगातार महा जाम लगा हुआ और इस गंगा स्नान से लेकर भीड़ का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि सिमरिया गंगा तट पर स्नान के दौरान जहां तीन लोग डूब गए जबकि एक व्यक्ति की जाम में फंसने से दम घूंट कर मौत हो गई। डूबने वालों में दो का शव बरामद कर पोस्टमार्टम के लिए चकिया ओपी द्वारा सदर अस्पताल भेज दिया गया। जबकि दो डूब हुए व्यक्ति की खोज के मोटरबोट के खराब रहने और एसडीआरएफ के नहीं होने की वजह से बरामद नहीं किया जा सका । दूसरे दिन गंगा स्नान को पहुंचे 5 लाख से अधिक श्रद्धालु उत्तर वाहिनी गंगा तट सिमरिया घाट का कोना-कोना और कदम-दर-कदम केवल और केवल लाखों की संख्या में श्रद्धालु ही दिखे । जीरोमाइल से सिमरिया घाट जाने वाली हर सड़क, गली, पगडंडी और मेड पर केवल गंगा स्नान करने वाले लोगों की ही भीड़ थी । गाड़ियों की भीड़ इतनी लग गई हर मैदान, खेत और सड़क पर केवल चार पहिये, तीन पहिये और दो पहिये वाहनों की भीड़ लग गई। जिस कारण लोगों को जीरोमाइल से ही पैदल सिमरिया की ओर जाना पड़ा। स्थिति यह हो गई कि आदमी का पैदल चलना तो दूर सरकना भी मुश्किल हो गया है। राष्ट्रीय उच्च पथ 31 के दोनों किनारों पर केवल वाहनों की लंबी कतार देर शाम तक लगी हुई है। इस महा जाम को छुड़ाने के लिए सुबह से ही जहां चकिया ओपी एफसीआई ओपी, जीरोमाइल ओपी, बरौनी थाना, रिफाइनरी ओपी की पुलिस मुस्तैद होकर लगी रही। वहीं दूसरी ओर कुछ युवाओं के भी हाथ में जाम को छुड़ाने के लिए डंडे देखे गए । महा जाम को लेकर एन एच 31 के दोनों किनारों की पास के जो भी दुकानें हैं उन दुकानों से खाने पीने की हर सामान समाप्त हो चुकी है । इस महा जाम में दर्जनों एंबुलेंस की गाड़ियां फसी रही और उनके अंदर मरीजों की हालत और बद से बदतर होती चली गई। सिमरिया घाट पर गंगा स्नान को लेकर लाखों लोगों की उमड़ी भीड़ के बाद बोतल का पानी भी खत्म हो गया । 20 रुपये का निर्धारित बोतल 40 रुपये से लेकर 80 रुपये तक बिकता रहा है। स्थिति यह हो गयी कि रास्ते में जाम लगने की वहज से गंगा जल लेकर लौट रहे लोगों ने गंगा जल ही पीकर अपनी प्यास बुझा ली। विदित हो कि बिहार सरकार को करोड़ों का राजस्व सिमरिया घाट से प्राप्त होता रहा है । उस सिमरिया घाट के लिए अब तक कोई भी उचित व्यवस्था नहीं दिखाई पड़ी है।

दर्दनाक| गंगा तट पर उमरी भीड़ तीन लोगों की डूबने से तो एक व्यक्ति की जाम में दम घुटने से चली गई जान

बीहट | गंगा स्नान को लेकर तीन लोगों की मौत जहां डूबने से हो गई, वहीं एक व्यक्ति की मौत जाम में फंसने से मूर्छित होने से हो गई। चकिया ओपी अध्यक्ष राकेश कुमार गुप्ता ने बताया कि बड़ियाही के पास पहाड़ी घाट पर सिमरिया दो के बड़ियाही बिंद टोली निवासी सुखो निषाद और बीहट इब्राहिमपुर टोला वार्ड 30 निवासी राष्ट्रीय बॉल बैडमिंटन खिलाड़ी आकाश कुमार गंगा स्नान के क्रम में डूब गया । जहां से सुखो निषाद का शव बरामद कर लिया गया है। जबकि निषाद घाट पर पहसारा निवासी उमेश साह की पत्नी नहाने के क्रम में गहरे पानी में चली गयी। जिसका शव बरामद नहीं हो पाया है । जबकि गढ़पुरा दुनही निवासी स्व रामबहादुर चौधरी का 43 वर्षीय पुत्र संजीव चौधरी की मौत सड़क दुर्घटना में हो गई। संजीव चौधरी के साथ मोटरसाइकिल से चल रहे सुबोध कुमार सिंह ने बताया कि अज्ञात वाहन ने ठोकर मार दिया।

गहरे पानी में जाने से आकाश की मौत

हर दिन की तरह अपने मित्रों के साथ सेना में बहाली हेतु दौड़ने निकला था आकाश । इसी क्रम में सीआईएसएफ मैदान से दौड़ने के बाद वह अपने मित्र बीहट निवासी राहुल, अभिषेक, रोहित और कसहा के मित्र नीतीश, शिवम, नीरज के साथ बड़ियाही पहाड़ी बा घाट स्नान के लिए चला आया। जहां गहरे पानी में आकाश और राहुल चला गया जिसके बाद नीतीश द्वारा राहुल को बचा लिया गया और आकाश पानी में बह गया। आकाश के डूबने के बाद घाट पर ही परिजन बैठे रहे लेकिन जिला प्रशासन की ओर से बोट खराब होने की बजह से गोताखोर घटना स्थल पर नहीं पहुंच पाए । जिसके कारण आकाश का शव बरामद नहीं किया जा सका है । इस सम्बंध में पता चला कि देर शाम बोट का मोटर खराब होने के बाद उसे लाने के जिला भेजा गया।

सिमरिया से गंगा स्नान कर वापस घर लौट रहे दुनही निवासी संजीव की जाम नेे ली जान

गढ़पुरा | चकिया थर्मल के समीप घंटों जाम में फंसे रहने के कारण दुनही वार्ड 12 निवासी रामबहादुर चौधरी के 40 वर्षीय पुत्र संजीव कुमार चौधरी की मौत शनिवार को वहीं हो गई। वे अपने पड़ोसी सुबोध सिंह के साथ गंगा स्नान कर बाइक से घर लौट रहे थे। संजीव कुमार चौधरी को कलश स्थापित करना था। जानकारी के अनुसार मलमास खत्म होने व शनिवार से कलश स्थापना के साथ नवरात्र शुरू होने के कारण गंगा स्नान करने के लिए सिमरिया गंगा घाट पर लोगों का जनसैलाब उमड़ पड़ा था। अत्यधिक भीड़ के कारण 5 बजे सुबह से पहले ही सिमरिया व आसपास में जाम लगना शुरू हो गया था। जैसे-जैसे दिन चढ़ता गया लोग और हलकान होते गए।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें