पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

दैनिक उपभोग की वस्तुओं के मूल्यों में वृद्धि:साठ साल की मेहनत पर मोदी सरकार ने सात साल में ही पानी फेर दिया: कांग्रेस

बेगूसराय18 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • केन्द्र सरकार ने अच्छे दिन के नाम पर लोगों को मौत और आंसू के सिवा कुछ नहीं दिया है : अमिता

देश में पेट्रोलियम पदार्थों और रोजमर्रा के सामानों की कीमतों में हो रहे आसमानी उछाल के खिलाफ बुधवार को कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने डीएम कार्यालय के उत्तरी द्वार पर प्रर्दशन कर विरोध जताया। कांग्रेस द्वारा आहूत राष्ट्रव्यापी प्रतिरोध कार्यक्रम के तहत जिले के कांग्रेसियों ने पूर्व विधायक व महिला कांग्रेस प्रदेशाध्यक्ष अमिता भूषण के नेतृत्व में साइकिल मार्च निकाला। जो कांग्रेस भवन से रेलवे गुमटी, नेशनल हाईवे, ट्रैफिक चौक, कचहरी रोड होते हुए कैंटीन चौक पहुंच विरोध प्रदर्शन में तब्दील हो गया। जहां कांग्रेसियों ने अपनी मांगों के समर्थन में व सरकार की नीतियों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

इस मौके पर पूर्व विधायक अमिता भूषण ने कहा कि आम आदमी हो या खास, आज हर एक को इस भीषण महंगाई का रोना रोते हुए गुजारा करना पड़ रहा है। अधिकारी से चपरासी तक, दैनिक मजदूर व्यवसायी तक हर किसी का हर कुछ चौपट हो चुका है। उन्होंने कहा कि संगठित भ्रष्टाचार, सत्ता प्रतिष्ठानों द्वारा की जा रही कालाबाजारी, सरकार की कॉरपोरेट परस्त आर्थिक नीति, हर हाल में चुनाव जीतने की भूख, सरकारी कुप्रबंधन और इन सबसे बढ़कर सरकार की मरी हुई वह संवेदना है। जिसकी राजनीतिक शैली में जन की भावनाओं का तिरोहण ही इस अप्रत्याशित मंहगाई के मूल में है।

पूर्व विधायक ने कहा कि सरकार के पास डीजल, पेट्रोल, रसोई गैस और दैनिक उपभोग की वस्तुओं के मूल्यों में इस वृद्धि की रोकथाम के लिए नीति की जगह कुतर्क है। जहां वित्तमंत्री अगर प्याज नहीं खाती हैं तो उन्हें प्याज के दाम की जानकारी ही नहीं होती। सरकार के नजरों में डीजल, पेट्रोल, गैस की मुल्यवृद्धि के लिए जिम्मेदार अभी भी कांग्रेस है। सरसों तेल के दाम में बढ़ोतरी किसान आंदोलन से हो रही है। इस सरकार ने अच्छे दिन के नाम पर लोगों को मौत और आंसू के सिवा कुछ नहीं दिया है।

वहीं उपाध्यक्ष रजनीश कुमार और रामस्वरूप पासवान ने कहा कि इस जानलेवा महंगाई से आम आदमी पूरी तरह त्रस्त है। यदि मंहगाई कम नहीं किया गया तो गरीबों का जीवन बद से बदतर हो जाएगा । सरकार या तो इससे निजात की नीति बनाए या फिर देश से माफी मांगते हुए सत्ता छोड़ दे। कार्यक्रम प्रभारी पवन कुमार ने कहा कि 70 साल की मेहनत को 7 साल में यह सरकार चट कर गई । कांग्रेस स्थापना काल से ही गरीबों की हमदर्द रही है और जब यह सरकार गरीबों का निवाला छीनने पर तुली है तो हम कांग्रेस के सिपाही सड़कों पर उतरे हैं।

इस मौके पर महिला जिलाध्यक्ष रूबी शर्मा, शांति स्वामी, उदय सिंह, ब्रजकिशोर सिंह, रामु सिंह, श्रीकांत राय, ,अमित कुमार बॉबी, रूपेश पासवान, सावर कुमार, अशोक राय, संजय सिंह, अजित कुमार, सुबोध झा, सर्वदानंद पाठक, नंदकिशोर महतो, राघव कुमार, अमन कुमार, अवनीश कुमार, जितेन्द्र झा रविकुमार, विवेक कुमार, नीरज कुमार, सुभाष कुमार, विनोद महतो, सुधीर सिंह, शांति देवी, रिया कुमारी, भासो सिंह सहित अन्य कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित थे ।

खबरें और भी हैं...