विचार-विमर्श:संविधान एवं जनतांत्रिक मूल्यों के विरुद्ध मोदी सरकार तानाशाही हुकूमत कायम करना चाहती है : सीपीआई

बेगूसराय2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीपीआई अंचल परिषद और नगर परिषद की संयुक्त बैठक जिला कार्यालय में हुई

सीपीआई अंचल परिषद एवं नगर परिषद की संयुक्त बैठक शनिवार को जिला कार्यालय में इंद्रदेव कुमार की अध्यक्षता में की गई। बैठक 9 अगस्त को समाहरणालय पर आहूत आंदोलन की तैयारी को लेकर की गई। बैठक जिला सचिव मंडल सदस्य अनिल कुमार अंजान ने कहा कि देश अघोषित आपातकाल के दौर से गुजर रहा है।

संविधान एवं जनतांत्रिक मूल्यों के विरुद्ध मोदी सरकार तानाशाही हुकूमत कायम करना चाहती है। सरकार की आलोचना करने वाले को देशद्रोही बता रहा है। उन्होंने कहा कि नोटबंदी कानून, जीएसटी से लेकर कोरोना काल में बनाए गए किसान मजदूर विरोधी कानून से आज हर तबका अपने आप को छला हुआ एवं परेशान महसूस कर रहा है। जानलेवा बन चुकी महंगाई, बेरोजगारी से 30 करोड़ लोग गरीबी रेखा के नीचे चले गए हैं।

सरकार कालाबाजारी को संरक्षण दे रही है
सरकार कालाबाजारी और जमाखोरी को संरक्षण दे रही है। कॉरपोरेट घरानों के खूंटे में बांध कर एक बार फिर हमें गुलामी का एहसास दिलाया जा रहा है। समाहरणालय पर विशाल प्रदर्शन में किसान, खेत मजदूर, छात्र नौजवान, महिला जनसंगठनों के कार्यकर्ता सीपीआई के नेतृत्व में शामिल होंगे जिला कार्यकारिणी सदस्य प्रताप नारायण सिंह ने सांगठनिक सुदृढ़ता पर बल देते हुए पंचायत एवं नगर निगम के चुनाव में सक्रिय भूमिका निभाने की बात कहीं।

बैठक के शुरुआत में ही पटना विश्वविद्यालय के इतिहास की पूर्व विभागाध्यक्ष, मानवाधिकार कार्यकर्ता, लेखक, खेल एवं बाल शिक्षा के क्षेत्र में महत्वपूर्ण योगदान देने वाले प्रोफेसर डेजी नारायण के असामयिक निधन पर मौन श्रद्धांजलि दी गई। बैठक में अन्य लोगों के अलावा नगर परिषद के मंत्री कॉमरेड शंभू देवा, रमेश सिंह, सत्यनारायण राय पटेल, जयराम सिंह, रोशन, नरेश यादव, योगेश्वर, विमल साह, शंभू मिश्रा, योगेंद्र ठाकुर, वकील दास, विमल पासवान, सुरेश पासवान भी मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...