दो सहोदर बहनों ने पहली बार आजमाया भाग्य:अगल-अलग प्रखंड से लड़ीं पंचायत समिति सदस्य का चुनाव, दोनों ने दर्ज की जीत

बेगूसरायएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पंचायत चुनाव के अंतिम चरण में दो सहोदर बहनों ने पहली बार भाग्य आजमाया और दोनों ने जीत हासिल की। पंचायत से पंचायत समिति सदस्य पद पर चुनाव लड़ी और दोनों ने जीत दर्ज की। चकिया नया टोला निवासी रामनरेश राय की एक पुत्री निशा कुमाार की शादी तेघड़ा प्रखंड के गौड़ा 2 पंचायत निवासी सीपीआई नेता पूर्व मुखिया प्रदीप राय के पुत्र कुमोद रंजन से हुई है और दूसरी पुत्री भाग्यश्री वाला की शादी बलिया प्रखंड के फतेहपुर पंचायत निवासी सरोवर महतो के पुत्र श्याम कुमार से हुई है। राम नरेश राय की दोनों पुत्री ने अपने-अपने सुसराल के पंचायत से चुनाव के मैदान में उतरी थी।

सबसे दिलचस्प बात यह है कि दोनों बहन ने चुनाव तो अलग-अलग प्रखंड के पंचायत से लड़ा, लेकिन दोनों को एक ही चुनाव चिन्ह खटिया छाप आवंटित हुआ था और दोनों ने अपने विरोधी को पराजित कर जीत का परचम लहराया। दोनों की चुनावी जीत चर्चा का विषय बना हुआ है। निशा देवी ने तेघड़ा गौड़ा पंचायत के पंचायत समिति क्षेत्र संख्या 10 से जीत दर्ज की।

निशा देवी ने 41625 वोट प्राप्त कर अपने निकटत प्रतिद्धंदी बनारसी यादव को 450 वोट से हराया। वहीं दूसरी बहन भाग्यश्री वाला ने फतेहपुर पंचायत के पंचायत समिति क्षेत्र संख्या 17 से जीत दर्ज की। भाग्यश्री ने 2288 वोट प्राप्त कर अपने निकटतम प्रतिद्वंदी स्मिता कुमारी को 1172 वोट से पराजित किया। दो बहनों की जीत पर भाई विक्रम कुमार ने खुशी व्यक्त करते हुए कहा कि हमारा परिवार हमेशा से समाज सेवा करता रहा। दोनों बहन ने परिवार का नाम रौशन किया।

खबरें और भी हैं...