कुख्यात गुलाब और नकुल गिरफ्तार:सुलेन महतो अपहरण और हत्याकांड में था वांटेड

बेगूसराय13 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गांजा तस्करों के बीच लेने-देन के विवाद में ही बदमाशों ने सुलेन यादव को अगवा कर उसकी निर्दयतापूर्वक हत्या की थी। इसका खुलासा कुख्यात गुलाब यादव और नकुल यादव की गिरफ्तारी के बाद प्रेस वार्ता के दौरान पुलिस अधीक्षक योगेंद्र कुमार ने की। साहेबपुरकमाल थाना क्षेत्र के बाबू राही गुलाब यादव और श्रीनगर के नकुल यादव ने पुलिस के समक्ष स्वीकार किया है कि ब्रजेश सिंह एवं अन्य नामजद के साथ मिल कर सुलेन महतो को अगवा कर लिया। सभी बदमाश सुलेन महतो को लेकर मुंगेर घाट के गंगा नदी के बीच नाव पर चले गए।

फिर सुलेन महतो की पीट-पीट कर निर्दयतापूर्वक हत्या कर दी और शव को गंगा में ठिकाने लगा दिया। बदमाशों ने गांजा के अवैध कारोबार के लेने-देन के विवाद में ही सुलेन सिंह की हत्या कर दी। इस मामले में पुलिस ने पूर्व में ही नामजद दिलखुश और दीपक को गिरफ्तार कर जेल भेजा है। मुख्य आरोपी ब्रजेश सिंह के वारदात की रात अपने साथियों से मोबाइल पर हुई बातचीत के आधार पर गुलाब और नकुल को पकड़ा गया । साहेबपुरकमाल थाना क्षेत्र के मतूबरोई गांव निवासी सखा देवी ने पिछले साल 4 अक्टूबर को अपने पति सुलेन के अपहरण करने की प्राथमिकी दर्ज कराई।

बलिया थाना क्षेत्र के लखमीनिया के ब्रजेश सिंह, दिलखुश सिंह, ब्रजेश सिंह का चचेरा भाई सोनु सिंह, दीपक सिंह और दीपक सिंह का साला दीपू सिंह ने पैसे के लेने-देन के विवाद में मेरे पति को अगवा कर लिया है। 1 अक्टूबर को सिंघौल सहायक थाना के सिंघौल पम्प के पास से सुलेन को अगवा करके बदमाश अपने गांव लेकर चले गए थे। रात को मैंने अपने पति के मोबाइल पर कॉल किया, तो उन्होंने बताया कि मैं ब्रजेश सिंह के घर पर हुं। रात को करीब 10 बजे कॉल किया, तो मेरे पति का मोबाइल स्वीच ऑफ था।

एसडीपीओ और थानाध्यक्ष किए जाएंगे पुरस्कृत

  • एसपी योगेंद्र कुमार ने कहा कि बेहतर अनुसंधान करने और दोनो कुख्यात को गिरफ्तार करने के लिए स्वंय बलिया एसडीपीओ वीर धीरेंद्र कुमार और कांड के अनुसंधानकर्त्ता सह साहेबपुरकमाल थानाध्यक्ष दिनेश कुमार को पुरस्कृत करेंगे।
खबरें और भी हैं...