पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मंचन:नाटक में दिखाया गया गांव और शहर का फर्क

बेगूसराय11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
बेगूसराय में मृत शहर में एक साथ नाटक का मंचन करते कलाकार। - Dainik Bhaskar
बेगूसराय में मृत शहर में एक साथ नाटक का मंचन करते कलाकार।
  • सांस्कृतिक विकास केंद्र के तत्वावधान में एकल नाटक मृत शहर में एक शाम का सफल मंचन

सांस्कृतिक विकास केंद्र के तत्वावधान में मृत शहर में एक शाम नाटक का सफल मंचन लवहरचक रामदिरी के बेगूसराय आईटीआई सभागार में किया गया जिसमें युवा रंगकर्मी अरुण कुमार ने एकल अभिनय किया है। नाटक में सरयू दास एवं हरिवंश राय बच्चन द्वारा लिखित कविता को नाट्य निर्देशन युवा रंगकर्मी सचिन कुमार ने किया। नाटक में दिखाया गया कि गांव का एक युवक शहर जाता है। लेकिन शहर का वातावरण देखकर युवक विचलित हो जाता है। देखता है कि शहर में किसी से किसी का कोई मतलब नहीं है। वह युवक रात गुजारने के लिए छत की तलाश करता है। लेकिन नहीं तो उससे छत मिलता है और ना ही नौकरी मिलती है। इस दौरान किसी तरफ फुटपाथ पर दिन गुजारने लगता है और कहता है यहां आदमी नहीं, शहरी बसते हैं। धीरे-धीरे युवक बाजारवाद में उलझता चला जाता है और घर परिवार की यादें भी दिल से खत्म हो जाती है। दूसरी तरफ दिखाया कि जब आदमी का अंत समय आता है, तो यमराज उसके सामने होता है। लेकिन वह व्यक्ति किसी को यह बात बताने की स्थिति में नहीं होता है। यमराज आने का आभास भी हो जाता है और धीरे-धीरे पूरा घर परिवार की यादें आने लगता है। वह युवक मर जाता है। इसमें विशेष सहयोग में रोशन कुमार गौतम, कुंदन कुमार, प्रकाश कुमार रौनक कुमार आदि ने किया। नाटक का उद्घाटन कृष्ण देव मिश्रा, रामसेवक साहू, अजय कुमार एवं प्रियांशु ने संयुक्त रूप से किया।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से उत्साह में वृद्धि होगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर भी विजय हासिल...

    और पढ़ें