पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

लापरवाही:मनमानी से 8 माह बाद भी नहीं बना वाचनालय

बेगूसराय9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • स्वर्ण जयंती पुस्तकालय में शिलान्यास के बाद भी वाचनालय का काम अब भी अधूरा

स्वर्ण जयंती पुस्तकालय में बनने वाला वाचनालय संवेदक की मनमानी और अधिकारियों की लापरवाही के कारण आधा-अधूरा पड़ा हुआ है। इस वजह से पुस्तकालय में आने-वाले छात्र-छात्रा व अन्य पाठक जान जोखिम मंे डाल जर्जर भवन के नीचे बैठकर पढ़ने के लिए विवश हैं। मालूम हो कि पुस्तकालय की स्थिति जीर्णशीर्ण होने के कारण मुख्यमंत्री क्षेत्र विकास योजनान्तर्गत स्वर्ण जयंती पुस्तकालय में वाचनालय भवन का निर्माण कार्य 14.29 लाख से होना है। जिसका शिलान्यास बेगूसराय के तत्कालीन विधायक अमिता भूषण ने बिहार विधानसभा चुनाव से पूर्व 10 अगस्त 2020 को ही किया है। लेकिन करीब 8 माह में सिर्फ वाचनालय भवन का बेस भी नहीं बन पाया है। वाचनालय निर्माण कार्य बंद होने के संबंध में जब संवेदक धीरज कुमार से पूछा गया तो उन्होंने पहले कुछ भी बताने से इनकार कर दिया। फिर बताया की वाचनालय का निर्माण कार्य नवंबर में होना शुरू हुआ है। काम चल ही रहा था, लेकिन इधर मिट्टी भराई नहीं होने के कारण काम में देरी हो रही है। जैसे ही मिट्टी भराई होगी तीन माह के अंदर पूरा हो जाएगा। पुस्तकालयाध्यक्ष प्रेम कुमार ने बताया कि संवेदक मनमौजी तरीके से काम करवा रहा है। जब मन होता है काम शुरू करवाता है जब मन होता है काम बंद कर देता है। इसी वजह से अभी तक वाचनालय का निर्माण नहीं हो सका है। इस कारण काफी परेशानी होती है। वहीं स्थानीय क्षेत्र अभियंत्रण संगठन कार्य प्रमंडल वन के अधिकारी ने खुद को अस्वस्थ्य बताते हुए मामले को देखने की बात कहीं।
जिले की धरोहर है स्वर्ण जयंती पुस्तकालय
ब्रिटिश हुकुमत के समय 28 दिसंबर 1935 को जन सहयोग से पुस्तकालय की स्थापना की गई थी। साहित्यकार अशांत भोला ने बताया कि आजादी से पूर्व स्वर्ण जयंती पुस्तकालय स्वतंत्रता सेनानियों और साहित्यकारों के बैठने का मुख्य केन्द्र था। जिले के स्वतंत्रता सेनानी यही पर एकजूट होकर आजादी की रणनीति बनाते थे। वहीं पुस्तकालय में महत्वपूर्ण किताबें होने के कारण साहित्याकारों से गुलजार रहता था। लेकिन धीरे-धीरे पुस्तकालय साहित्यकारों और प्रशासनिक अधिकारियों के उदासीनता का शिकार होते चला गया। रखरखाव सही से नहीं होने के कारण हजारों पुस्तक खराब हो चुका है। वहीं पुस्तकालय मुख्य भवन 85 वर्ष पुराना होने के कारण टूटकर गिरने लगा है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव - आपका संतुलित तथा सकारात्मक व्यवहार आपको किसी भी शुभ-अशुभ स्थिति में उचित सामंजस्य बनाकर रखने में मदद करेगा। स्थान परिवर्तन संबंधी योजनाओं को मूर्तरूप देने के लिए समय अनुकूल है। नेगेटिव - इस...

    और पढ़ें