पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

नहीं चेते अफसर... झेलेंगे लोग:जलजमाव से बचाने के लिए अफसरों ने चर्चा तो की, समुचित व्यवस्था नहीं, फिर डूबेगा शहर

बेगूसरायएक महीने पहलेलेखक: नवीन कुमार
  • कॉपी लिंक
जेल गेट की बगल वाली सड़क की हालत भी जर्जर। - Dainik Bhaskar
जेल गेट की बगल वाली सड़क की हालत भी जर्जर।
  • शहर की हालत ये है कि एक-दो घंटे की तेज बारिश में ही हो रहा जलजमाव

यदि इस बार मानसून में अतिवृष्टि हुई तो शहर की स्थिति बहुत ही भयावह होगी। लोगों को जलजमाव झेलने के साथ-साथ, सिवरेज और हर घर नल जल के लिए तोड़ी गई सड़क के उबड़-खाबड़ में हिचकोले भी खाने होंगे। वहीं इन सड़क पर चलने के क्रम में संतुलन बिगड़ी तो अस्पताल में भर्ती तक होना पड़ सकता। वर्तमान में शहर की हालात ही कुछ ऐसी है। क्योंकि नगर आयुक्त द्वारा जलजमाव नहीं होने और बुडको के कार्यपालक

अभियंता द्वारा मानसून पूर्व खोदी गई सड़कों को दुरूस्त कराने के दावों की पोल खुल चुकी है। कार्यपालक अभियंता ने कहा था सिवरेज व नल जल के पाइप लाइन बिछाने के लिए तोड़ी गई सड़क मानसून से पहले ठीक कर दिया जाएगा। लेकिन मानसून आने के बाद भी निगम क्षेत्र के विभिन्न वार्डों में खोदी गई सड़कों को ठीक नहीं किया गया है।

वहीं जिन सड़कों का रेस्टोरेशन किया गया है वह तुरंत धंस गई है और लगता ही नहीं है कि वहां मरम्मत कार्य हुआ है। वहीं बारिश होने के बाद खोदी गई सड़क के गड्ढें में पानी भर जाने के कारण दलदल जैसी स्थिति बनी है और कई सड़कें खतरनाक हो गई है। सड़क पर पानी जमा होने के कारण राहगीरों को पता ही नहीं चलता है कि पानी के नीचे सड़क है या गढ्ढा जहां इन सड़कों पर गाड़ियां फंस रही है, लोगों को कीचड़ पार करने में मुशि्कलों का सामना करना पड़ रहा है, वहीं लोग उसमें गिरकर चोटिल हो रहे हैं।

ये सड़क नहीं हुई ठीक
प्रोफेसर कॉलोनी में लगभग सभी सड़कें खोदी हुई है। हालांकि रॉ मेटेरियल गिराया जा रहा था। वहीं इटवा पिपरा रोड़, निराला नगर, रतनपुर थाना के सामने, ज्वाला महराज गली, विश्वनाथ नगर में खोदी गई सड़क पर रॉ मेटेरियल डालकर छोड़ दिया गया है। बाघा रेलवे गुमटी से मिलन चौक तक, बाघा मध्य विद्यालय से लेकर अंदर मोहल्ला जाने वाली सड़क, गौशाला रोड, शिव मंदिर गली, लोहिया नगर गुमटी के सामने अशोक नगर जाने वाली सड़क टूटी हुई है। वहीं चित्रगुप्त नगर मोहल्ले में अब भी कई सड़क पर मरम्मत कार्य शुरू नहीं किया गया है। पोखरिया मध्य विद्यालय की बगल वाली सड़क, एमआरजेडी कॉलेज के सामने वाली सड़क, सहजानंद नगर की सड़क, सहित दर्जनों सड़क टूटी हुई है।

वार्ड में जलनिकासी की व्यवस्था नहीं
कई वार्डों के मोहल्ले में दस दिनों से जलजमाव बना हुआ है। मिर्जापुर वंद्धार, महमदपुर, लोहिया नगर, चाणाक्य नगर, सर्वोदय नगर, मीरगंज, इटवा-पिपरा रोड, माली टोला, एमआरजेडी कॉलेज के सामने, ममता होटल गली, बाघा सहित अन्य जगहों पर जलजमाव है। जबकि नगर आयुक्त ने कहा था कि एक-दो घंटे की बारिश में जल जमाव नहीं होगा। नगर निगम में शामिल किए गए अधिकतर शहरी ग्रामीण वार्ड में विकास के नाम पर सिर्फ सड़के बनी है, कुछ ही वार्ड ऐसा है जहां नाले का निर्माण हुआ है। लेकिन जल निकासी की व्यवस्था नहीं के बराबर है।

खतरनाक सड़क को नहीं किया गया है ब्लॉक, कभी भी हो सकता है हादसा
सिवरेज कार्य के लिए खोदी गई जीडी कॉलेज के पीछे वाली सड़क, रेलवे गुमटी से पानी टंकी तक सड़क और विष्णुपुर पूर्वी छोड़ वाली सड़क में सड़क में जगह-जगह गढ्डें है और पूरे सड़क पर मिट्टी पसरी हुई है, बारिश के बाद स्थिति खतरनाक हो गई है। बावजूद इन सड़कों पर लोगों का परिचालन बंद नहीं किया गया है। ना ही किसी तरह का कोई दिशा-निर्देश बोर्ड लगा है। इन सड़कों पर सुरक्षा का इंतजाम कर लोगों के आवागमन पर रोक नहीं लगाई गई तो कभी भी हादसा हो सकता है।

प्रशासक बोले - जल निकासी के लिए नगर आयुक्त को निर्देश दिया जाएगा
नगर निगम के प्रशासक बलागउद्दीन ने कहा कि नगर निगम क्षेत्र में जहां भी जलजमाव है, वहां से जल निकासी के लिए नगर आयुक्त को निर्देश दिया जाएगा।

खबरें और भी हैं...