कैंडल मार्च:संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर कैंडल मार्च निकाल किसानों को दी गई श्रद्धांजलि

बेगूसराय2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • किसान नेताओं ने कहा- जुल्म है जो बढ़ता है तो मिट जाता है, किसानों का बलिदान बेकार नहीं जाएगा

संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर सीपीआई जिला कार्यालय से कैंडल मार्च निकाला गया जो शहर के विभिन्न मार्गो से होते हुए पटेल चौक पहुंच श्रद्धांजलि सभा में तब्दील हो गया। इस मौके पर सीपीआई राज्य परिषद सदस्य अनिल कुमार अंजान ने कहा कि सत्ता के मद में चूर योगी एवं मोदी सरकार भूल रही है कि खून खून है जो गिरता है तो जम जाता है, जुल्म जुल्म है जो बढ़ता है तो मिट जाता है।

किसान संगठन योगी, मोदी सरकार से पहले भी था और बाद में भी रहेगा। उन्होंने कहा कि केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र द्वारा आंदोलनकारी किसानों को 2 मिनट में सुधार देने की धमकी देना और उनके पुत्र द्वारा किसानों को कुचलकर हत्या करना। किसान की नहीं जनतंत्र हत्या है।

इसलिए अब लड़ाई सत्ता और जनता के बीच की है। वही किसान नेता अरविंद सिंह ने यूपी के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्र को अविलंब बर्खास्त करने एवं मंत्री पुत्र के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर सख्त से सख्त सजा देने की मांग की।

सभा के अंत में तमाम आंदोलनकारी किसानों की शहादत पर एटक नेता प्रह्लाद सिंह द्वारा लाए गए शोक प्रस्ताव पर 2 मिनट मौन श्रद्धांजलि दी गई। शंभू देवा, रमेश सिंह, राम प्रवेश सिंह, वीरेंद्र सिंह, राज नारायण राय, रामनंदन सिंह, जवाहर कुमार शर्मामौजूद थे।

खबरें और भी हैं...