व्यवसायी महासंघ ने कहा:दुर्गापूजा मेला नहीं लगाने का प्रशासनिक आदेश दुर्भाग्यपूर्ण, मेला लगाने की अनुमति देने की मांग

बेगूसराय2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बैठक में उपस्थित शहर के व्यवसायी। - Dainik Bhaskar
बैठक में उपस्थित शहर के व्यवसायी।

दुर्गा पूजा मेला लगाने की अनुमति जिला प्रशासन द्वारा नहीं देना दुर्भाग्यपूर्ण है। उक्त बातें बुधवार को जिला व्यवसायी महासंघ के अध्यक्ष अखिलेश कुमार ने श्रीकृष्ण नगर में बैठक के उपरांत पत्रकारों से कहीं। महासंघ के अध्यक्ष ने कहा कि जिला प्रशासन के मेला नहीं लगाने के आदेश के विरोध में जिला व्यवसायी महासंघ के साथ शहर के दुर्गापूजा समिति के सदस्यों की एक संयुक्त बैठक हुई।

उन्होंने कहा कि जिला व्यवसायी महासंघ और शहर के विभिन्न दुर्गापूजा समिति के पदाधिकारी की एक कोर कमेटी बनेगी और जिलाधिकारी से मुलाकात करेंगी। जिला व्यवसायी महासंघ ने फैसला किया है कि इस समस्या को लेकर बेगूसराय सांसद विधायक और विधान पार्षद को भी एक लिखित मांग पत्र देंगे।

बैठक में दुर्गा पूजा समिति के संरक्षक दिलीप कुमार सिन्हा ने कहा कि जिला व्यवसायी महासंघ और दुर्गा पूजा समिति के सदस्यों की एक प्रतिनिधि मंडल जिलाधिकारी से मुलाकात कर अपनी बातों को उनके सामने रखेंगे। मौके पर जिला व्यवसायी महासंघ के सचिव अजीत गौतम ने कहा कि जब चुनाव हो रहे हैं, क्रिकेट मैच हो रहा है, सभी तरह के आयोजन हो रहे हैं, तो दुर्गा पूजा मेला नहीं लगाने की अनुमति पर प्रशासन को विचार करना चाहिए।

कपड़ा व्यवसायी रंजीत दास ने कहा कि दुर्गा पूजा मेला में कई ऐसे छोटे व्यवसायी हैं जो दुर्गा पूजा मेला का इंतजार साल भर करते हैं। इससे इनकी जीविका चलती है। वार्ड पार्षद और व्यवसायी महासंघ के सदस्य बबन सिंह ने कहा कि मेला में बैलून बेचने वाले, फुकना बेचने वाले, खिलौना बेचने वाले एवं मिठाई बेचने वाले ऐसे छोटे-छोटे स्तर पर होने वाले व्यवसाय से संबंधित लोग मेला नहीं लगने के फैसले से नुकसान में रहेगें।

प्रशासन को गंभीरता पूर्वक मेला नहीं लगाने के फैसले पर पुनर्विचार करना होगा। इस अवसर पर शहर के व्यवसायी राजेंद्र राजा, संजय कुमार नीलू, अरविंद चौधरी, उमाशंकर साहू, कन्हैया कुमार, अबीन राज, अमरंजीत कुमार, अनुज कुमार एवं वरुण कुमार आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...