पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मामले दर्ज:चोरी से विक्की ने की शुरुआत, लूट और डकैती कर बन गया 50 हजार का इनामी

बेगूसराय6 दिन पहलेलेखक: विभूति भूषण
  • कॉपी लिंक
  • विक्की के पकड़े जाने से लूट की घटना में आएगी कमी, मुखिया पति पर दो बार कर चुका है हमला

सिमरिया घाट, बिंद टोली निवासी 50 हजार के इनामी अपराधी विक्की राय और विक्की राय का दाहिना हाथ संतोष उर्फ चुहवा के जेल जाने के बाद पुलिस ही नहीं सिमरिया गंगा किनारे , लखीसराय और पटना जिला के मरांची थाना के गंगा किनारे के गांव के लोगों ने राहत की सांस ली है। कुख्यात विक्की राय चोरी की वारदात के साथ अपराध जगत में कदम रखा और महज दो साल में ही उसने अपना गैंग खड़ा कर लिया।

चोरी की वारदात के बाद विक्की राय ने अपने साथियों के साथ पहली बार हत्या की वारदात को अंजाम दिया। उसने 26 जुलाई साल 2019 को पटना जिला के मरांची थाना क्षेत्र के कसहा दियारा में अरविंद महतो को गोलियों से छलनी कर दिया। 24 सितम्बर साल 2019 को नगर थाना की पुलिस ने विक्की राय को विष्णुपुर में हथियारों के साथ गिरफ्तार किया। फिर जमानत पर छुटने के बाद उसने सिमरिया से गुजरने वाली ट्रेन में कई लुट-चोरी की वारदात को अंजाम दिया। उस पर मोकामा, बरौनी में कई मामले दर्ज हुआ।

विक्की राय गैंग की दुश्मनी सिमरिया बिंद घाट के मुखिया रंजीत कुमार से है। उसने इसी साल 29 मार्च को मुखिया रंजीत के घर पर चढ़ कर उसकी हत्या करने के लिए 100 राउण्ड से अधिक गोली चलाई थी। इसके हमले के बाद उसने 18 अप्रैल की शाम दोबारा मुखिया के घर पर चढ़ गया और 59 राउण्ड से अधिक गोली चलाई। संयोग से दोनों हमला में मुखिया बाल-बाल बच गया।

विक्की राय का गिरोह हर तरह का अपराध करता है। रंगदारी, लेवी वसूलने, जमीन पर कब्जा करने, लुटपाट, ट्रेन में लुटपाट-छिनतई और एनएच-31 पर ट्रक में डाका डालना और लूटपाट करना इसके गिरोह का मुख्य धंधा है। यह गिरोह सिमरिया के गंगा किनारे इस पार से लेकर उस पार तक सक्रिय है। विक्की राय के गैंग में 20 से अधिक बदमाश शामिल हैं। यह गैंग सिमरिया, चकिया, एफसीआई, पटना जिला के मरांची, हथिदह और लखीसराय जिला के गंगा दियारा के बीहड़ों में छुप कर रहता हैै। 15 जनवरी को विक्की राय अपने गिरोह के साथ समस्तीपुर जिला के मुसरीघरारी में ट्रक को लुटा।

विक्की राय का गैंग और पुलिस के बीच दो बार हो चुका है एनकाउंटर
विक्की राय का गैंग काफी दुस्साहसी है। उसके गिरोह पुलिस पर गोली चलाने से भी गुरेज नहीं करते हैं। 15 मार्च साल 2021 को विक्की राय गैंग और बरौनी जीआरपी के बीच जम कर गोलीबारी हुई। इस एनकाउंटर में विक्की राय के गिरोह ने 25 राउण्ड फायरिंग किया जवाब में पुलिस ने 15 राउण्ड गोली चलाई। इसके बाद भी विक्की राय का गिरोह भाग गया। 26 मई साल 2021 को भी पटना के कसहा दियारा में विक्की राय गिरोह और एसटीएफ के बीच मुठभेड हुई।। जिसमें विक्की राय के दाहिने हाथ संतोष कुमार उर्फ चुहवा को गोली लग गई। इसके बाद हथियार छोड़ कर अपराधी भाग निकले।

जख्मी चुहवा को एसटीएफ ने उसी दिन समस्तीपुर जिला से गिरफ्तार कर लिया। वहीं गुरूवार को एसटीएफ ने विक्की राय को लखीसराय जिला के चानन थाना क्षेत्र के धनवह गांव से गिरफ्तार कर लिया। बेगूसराय पुलिस ने विक्की राय की निशानदेही पर चकबल्ली दियारा से देशी रायफल और मास्केट बरामद किया है।

खबरें और भी हैं...