प्रशिक्षण:जैव विविधता को कछुआ के संरक्षण पर 20 से प्रशिक्षण

भभुआएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जैव विविधता के लिए कछुआ भी जरूरी है। इनसे पारिस्थितिकी संतुलन बना रहता है। इनके संरक्षण व संवर्धन के लिए वन विभाग की टीम को विशेष प्रशिक्षण दी जाएगी। यह प्रशिक्षण कैमूर वन प्रमंडल के जलदहा में दी जाएगी। प्रशिक्षण की शुरुआत 20 दिसंबर को होगी। इस प्रशिक्षण सत्र में सूबे के 5 जिलों के कर्म कछुआ व संबंधित कर्मी शामिल होंगे। सहायक वन संरक्षक राजकुमार शर्मा ने बताया कि आयोजित होने वाले इस प्रशिक्षण सत्र में कैमूर, रोहतास, औरंगाबाद, नवादा और गया के कर्मी प्रशिक्षित किए जाएंगे। यह प्रशिक्षण कार्यक्रम मोहनिया वन क्षेत्र के जलदहा में बनाए गए ब्लैक बग रेस्क्यू सेंटर में होगा। पारिस्थितिकी तंत्र को बनाए रखने में कछुआ का भी अपना अलग और विशेष महत्व है।

खबरें और भी हैं...