12 नवंबर को होगी परीक्ष:राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण परीक्षा में 138 विद्यालयों के 4,516 छात्र होंगे शामिल

भभुआ23 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण परीक्षा में 138 विद्यालयों के 4,516 छात्र शामिल होंगे। यह परीक्षा 12 नवंबर को आयोजित होगी।परीक्षा की तैयारियों को लेकर जिला शिक्षा पदाधिकारी सूर्य नारायण की अध्यक्षता में शुक्रवार को शिक्षा विभाग के सभाकक्ष में विभागीय अफसरों और संबंधित स्कूल के प्रधानाध्यापकों के साथ समीक्षा बैठक आयोजित की गई। जिसमें राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण परीक्षा को जिले में बेहतर तरीके से संपन्न कराने हेतु आवश्यक दिशा निर्देश दिए गए।

बता दें कि राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण परीक्षा 12 नवंबर को 138 प्राथमिक मध्य एवं उच्च विद्यालयों में होगी। इस परीक्षा में इन विद्यालयों के कक्षा 3 के 26 विद्यालय के 689 छात्र परीक्षा में शामिल होंगे।जबकि कक्षा 5 के 25 विद्यालयों के 690 छात्र,कक्षा आठ के 52 विद्यालयों के 1,482 छात्र कक्षा 10 के 55 विद्यालयों के 1,615 छात्र परीक्षा में भाग लेंगे। जिला शिक्षा पदाधिकारी इसके नोडल है। परीक्षा को कैमूर में बेहतर तरीके से आयोजित कराने को लेकर परीक्षा के लिए ऑब्जर्वर एवं फील्ड इन्वेस्टिगेटर नियुक्त किए गए हैं। जो परीक्षा के दौरान सभी स्कूलों का भ्रमण करते हुए परीक्षा का जायजा लेंगे।

90 व 120 मिनट की होगी परीक्षा
राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण परीक्षा वर्ग 3 के लिए 90 मिनट की होगी। जिसमें कुल 47 प्रश्न भाषा गणित एवं पर्यावरण से पूछे जाएंगे। वर्ग 5 में इन्हीं विषयों से 90 मिनट में 53 प्रश्न पूछे जाएंगे। जबकि वर्ग 8 के लिए 120 मिनट की परीक्षा में भाषा गणित विज्ञान एवं सामाजिक विज्ञान के 60 प्रश्न पूछे जाएंगे। इसके अलावा वर्ग 10 में भाषा गणित विज्ञान अंग्रेजी एवं सामाजिक अध्ययन विषय से 70 प्रश्न पूछे जाएंगे। जिसके लिए 120 मिनट का समय दिया जाएगा।

8 नवंबर को खुले रहेंगे स्कूल
राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण परीक्षा की तैयारियों के लिए 8 नवंबर को स्कूल खुला रखने का निर्देश जिला शिक्षा पदाधिकारी ने दिया है। 8 नवंबर को अवकाश के बावजूद स्कूल को खुला रखने का निर्देश दिया गया है। 138 विद्यालयों में परीक्षा की तैयारियों को लेकर विभिन्न वर्गों के लिए चयनित किए गए छात्रों की उपस्थिति भी स्कूल में सुनिश्चित करानी है। राष्ट्रीय उपलब्धि सर्वेक्षण परीक्षा के बारे में आवश्यक जानकारी और तैयारियां कराई जाएंगी। इसके लिए प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी और प्रधानाध्यापकों को विशेष रूप से निर्देशित किया गया है।

खबरें और भी हैं...