मलेरिया का प्रकोप:मलेरिया पीड़ित बालक की रेफर किए जाने के बाद मोहनिया में हो गई मौत

भभुआएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • अधौरा से रेफर होने के बाद सदर अस्पताल से भी हायर सेंटर हुआ था रेफर

मलेरिया से पीड़ित अधौरा के रहने वाले करीब 12 वर्षीय बालक की हायर सेंटर रेफर किए जाने के बाद मोहनिया पहुंचने के क्रम में एम्बुलेंस में ही मौत हो गई। बालक अधौरा प्रखंड अंतर्गत एक गांव निवासी था। मिली जानकारी के मुताबिक बालक पिछले दो-तीन दिन से मलेरिया से पीड़ित था, उसका इलाज अधौरा अस्पताल में चल रहा था,जहां से स्थिति बिगड़ते देख बीती रात यानी शुक्रवार रात करीब 9-10 बजे बेहतर इलाज के लिए सदर अस्पताल भभुआ रेफर कर दिया गया।

सदर अस्पताल के बच्चा वार्ड में बालक को भर्ती कर इलाज किया जा रहा था, इस दौरान शनिवार सुबह एसएनसीयू के चिकित्सक डॉ. निशांत कुमार ने बच्चे की जांच की।जांच के दौरान बच्चे की हालत गंभीर पाई गई। एसएनसीयू के चिकित्सक डॉ. निशांत कुमार ने बताया कि बच्चे को सांस लेने में भी तकलीफ थी। जांच के दौरान हीमोग्लोबिन की मात्रा भी करीब 5% से नीचे आ गई थी। चिकित्सक के मुताबिक बालक को ज्वाइंडिस भी हो गया था।बेहतर इलाज के लिए बालक को सदर अस्पताल से हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। बताया गया कि एंबुलेंस से बालक को हायर सेंटर ले जाया जा रहा था, इस दौरान रास्ते में मोहनिया पहुंचने के करीब एंबुलेंस में ही बालक ने दम तोड़ दिया। बताया गया कि बालक की मौत के बाद उसी एंबुलेंस से शव गांव भेज दिया गया।

इस बाबत पूछे जाने पर प्रभारी सिविल सर्जन डॉ. अशोक कुमार सिंह ने बताया है कि अधौरा प्रखंड क्षेत्र में मलेरिया रोग से बचाव के लिए पूर्व में स्वास्थ्य महकमा की ओर से बचाव के लिए दवाई के अलावे मच्छरदानी इत्यादि भी उपलब्ध कराया गया था। लोगों को इस तरह के मर्ज से पीड़ित होने पर तत्काल इलाज के लिए भी सलाह दी गई थी। अधौरा स्थित अस्पताल से रेफर किए जाने के बाद सदर अस्पताल से भी हायर सेंटर किया गया था रेफर

खबरें और भी हैं...