किसानों को मिलेगा पानी:दुर्गावती जलाशय में 20 हेक्टेयर में बनेगा चेक डैम

भभुआ6 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
दुर्गावती जलाशय। - Dainik Bhaskar
दुर्गावती जलाशय।
  • सैकड़ों एकड़ एरिया होगा सिंचित, क्षेत्र में सालों भर उपजाई जाएंगी फसल

दुर्गावती जलाशय परियोजना के पश्चिमी मुहाने पर चेक डैम बनेगा। यह चेक डैम करीब 20 हेक्टेयर एरिया में फैला होगा। इससे सैकड़ों एकड़ एरिया को सिंचित बनाया जाएगा। आस-पास की कृषिगत भूमि को इससे पटवन की पानी सुलभ होगी। इस हिस्से में चेक डैम के निर्माण से कई तरह की फसलें ली जा सकती हैं। खास तौर पर किसानों को सब्जी की खेती के लिए भी प्रोत्साहित किया जाएगा। वन विभाग चेक डैम निर्माण के लिए प्रस्ताव तैयार कर रहा है। शीघ्र ही प्रस्ताव वन प्रमंडल, विभाग को भेजेगा।

चेक डैम के निर्माण से पहाड़ी क्षेत्र का सैकड़ों एकड़ एरिया सिंचित बनेगा। जहां बरसात के अलावे अन्य दिनों में पानी नहीं पहुंच पाता था।वन विभाग में तैयार की जा रही है। प्रस्ताव को विभाग ने स्वीकृति दे दी तो शीघ्र ही एक बड़ा एरिया सिंचित क्षेत्र हो जाएगा। चेक डैम के पानी से इस हिस्से में सालों भर फसलें ली जा सकेंगी।विभागीय सूत्रों का कहना है कि चेक डैम के निर्माण पर करीब 50 लाख रुपए से अधिक की रकम खर्च हो सकती है। हालांकि यह विभाग की स्वीकृति के बाद ही तय हो सकेगा।

पश्चिमी मुहाने पर बनेगा चेक डैम
विभाग के जानकारों का कहना है कि वन विभाग की टीम ने दुर्गावती जलाशय के पश्चिमी मुहाने के सटे चेक डैम निर्माण के लिए स्थल निरीक्षण कर रिपोर्ट तैयार कर रहा है। इसके लिए पूर्व में ही भूमि की निरीक्षण की जा चुकी है। चेक डैम निर्माण के लिए इस स्थल को उपयुक्त माना गया है। पहाड़ से निकलने वाला पानी चेक डैम में रुकेगा। आसपास के हिस्सों में नमी से वन क्षेत्र भी बढ़ेगा। वन विभाग के जानकारों का कहना है कि चेक डैम पहाड़ में होने वाली बारिश की पानी को रोकने के लिए बनाया जाता है। इससे चेक डैम के आसपास वाले हिस्से में नमी बनी रहती है। इससे नए पौधों का सृजन भी होता है। जो वन क्षेत्र के विकास में सहायक होते हैं। वन प्रमंडल पदाधिकारी विकास अहलावत ने कहा कि फिलहाल प्रस्ताव तैयार की जा रही है। शीघ्र ही चेक डैम निर्माण का प्रस्ताव विभाग को भेजा जाएगा।

खबरें और भी हैं...