योजना:किसानों को मोबाइल संदेश से जागरूक करेगा विभाग

भभुआ6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
किसानी कार्य में जुटे किसान। - Dainik Bhaskar
किसानी कार्य में जुटे किसान।
  • इस नए व्यवस्था से मुख्यमंत्री तीव्र बीज विस्तार योजना का जिले में क्रियान्वयन भी होगा

कृषि विभाग योजनाओं में पारदर्शिता के लिए मोबाइल संदेश तकनीक का सहारा लेगा। इससे न केवल गड़बड़ी रुकेगी, बल्कि किसानों में जागरूकता भी आएगी। अगले खरीफ फसल में क्रियान्वित की जाने वाली मुख्यमंत्री तीव्र बीज विस्तार योजना का क्रियान्वयन भी इसी व्यवस्था के तहत होगा। इनके अतिरिक्त अन्य बीज योजनाएं भी इसी के अनुरूप वितरित होगी।विभाग के आधिकारिक जानकारी के मुताबिक कृषि विभाग के पंचायतों में पदस्थापित कृषि समन्वयक इस नई पहल को अमली जामा पहनाने में लग गए हैं।

जिन किसानों के विभाग में पंजीयन हो चुके हैं उन किसानों के मोबाइल नंबर पर संपर्क कर कृषि समन्वयक तीव्र बीज विस्तार योजना के तहत पंजीकरण भी कर लिया गया है। जानकारों का कहना है कि योजना के तहत पंजीकृत हो चुके किसानों को ही इस खास योजना का लाभ मिल सकेगा। चिन्हित किए गए किसानों के आंकड़े को विभाग बिहार राज्य बीज निगम को भेजेगा। बिहार राज्य बीज निगम अपने स्टॉक पॉइंट से जैसे ही डीलर को बीज की आपूर्ति करेगा, वैसे ही पंजीकृत व चिन्हित किसानों के मोबाइल पर एसएमएस पहुंचेगा। संदेश में ओटीपी निर्धारित किसान का पहचान भी करेगा।

खरीफ फसलों पर संचालित है योजना, 30 तक आवेदन| विभाग के आधिकारिक जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री तीब्र बीज विस्तार योजना के तहत अगले खरीफ फसल की बीज योजना का लाभ मिलेगा। इसके लिए किसान 30 अप्रैल तक आवेदन कर सकेंगे। इस संदर्भ में सदर प्रखंड के कृषि पदाधिकारी हिमांशु कुमार ने कहा कि बीज विस्तार योजना के तहत डेटा बेस तैयार कर लिए गए है।

90 फीसद अनुदान पर मिलेगा बीज
विभाग के आधिकारिक जानकारी के मुताबिक मुख्यमंत्री तीव्र बीज विस्तार योजना के तहत 90 फीसद अनुदान पर विभिन्न तरह के बीच किसानों को उपलब्ध कराए जाते हैं। शंकर व बेहतर गुणवत्ता वाली प्रजाति के बीज का तेजी से राज्य में विस्तार हो सके। यह तभी संभव है जब बीज के उत्पादन के बाद किसान आपस में ही विचार साझा कर जागरूक होंगे। इस योजना की शुरुआत की गई। बताया गया है कि एक फसल के लिए एक गांव से सिर्फ दो ही किसानों को योजना के तहत चिन्हित किया जाना है।

खबरें और भी हैं...