अभियान:अस्पतालों में आज से 5 अक्टूबर तक निःशुल्क चिकित्सा

भभुआ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सदर अस्पताल - Dainik Bhaskar
सदर अस्पताल
  • सभी संस्थानों में उच्च रक्तचाप व मधुमेह के रोगियों के लिए विशेष जांच शिविर आयोजित होगी

जन जागरूकता के लिए जिले के सभी स्वास्थ्य केंद्रों में आज यानी बुधवार से अगले 5 अक्टूबर तक कार्यक्रम आयोजित होगा। हृदय को स्वस्थ रखना हमारे लंबे जीवन के लिए बेहद आवश्यक ही नहीं बल्कि निहायत ही जरूरी भी है। इस संबंध में राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय कुमार सिंह ने पत्र जारी कर सिविल सर्जन को आवश्यक दिशा निर्देश दिया है। जारी दिशा निर्देश में कहा गया है कि सदर अस्पताल, अनुमंडलीय अस्पताल, रेफरल अस्पताल, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर, शहरी स्वास्थ्य केंद्र में “विश्व हृदय दिवस “ का आयोजन किया जाएगा। सभी संस्थानों में 29 सितंबर से 5 अक्टूबर तक निःशुल्क चिकित्सा एवं परामर्श सप्ताह का आयोजन किया जाएगा। दरअसल वर्तमान समय में अव्यवस्थित दिनचर्या, तनाव, गलत खान-पान, पर्यावरण प्रदूषण एवं अन्य कारणों के चलते हृदय की समस्याएं तेजी से बढ़ी हैं।

बैनर-पोस्टर के माध्यम से किया जाएगा जागरूक
इस दौरान सभी संस्थानों में उच्च रक्तचाप एवं मधुमेह के रोगियों के लिए विशेष जांच शिविर आयोजित की जाएगी। जिसमें मधुमेह, उच्च रक्तचाप एवं हृदयाघात, स्वास्थ्य खान-पान के साथ जीवनशैली अपनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। इस कार्यक्रम को लेकर ज़िला मुख्यालय से लेकर ग्रामीण स्तर तक लोगों को जागरूक करने के लिए विभिन्न चौक चौराहों पर रंगीन फ़्लैक्स, पोस्टर, बैनर, होर्डिंग लगाया जाना है।

बीमारियों की बढ़ती संख्या चिंता की बात बनी
दिल की बीमारी किसी भी उम्र के व्यक्ति को हो सकती है। चाहे वह बच्चें, नौजवान या बुजुर्ग ही क्यों नहीं हो। इस तरह की बीमारियों के लिए उम्र की कोई सीमा नहीं होती है। किसी भी उम्र के लोगों में हृदयाघात (हार्ट अटैक) और दिल की बीमारियों की बढ़ती संख्या चिंता का विषय बना हुआ है। मात्र 10 वर्ष पहले युवाओं के बीच हृदय की समस्याओं को केवल आंका जाता था लेकिन वर्तमान के युवा वर्ग में कुछ ज़्यादा ही देखने को मिल रही हैं।

खबरें और भी हैं...