कॉल लगाएं / सर्दी-खांसी और बुखार है तो तुरंत घुमाइए कंट्रोल रूम का फोन, डाॅक्टर घर आएंगे

If there is a cold, cough and fever, then immediately turn around the control room, the doctor will come home
X
If there is a cold, cough and fever, then immediately turn around the control room, the doctor will come home

  • कोविड-19 के दौरान कैमूर जिले में स्थापित है 104 कॉल सेंटर एवं जिला नियंत्रण कक्ष
  • कंट्रोल रूम में पदस्थापित किए गए हैं शिफ्ट वाइज 3 डॉक्टर, बस एक फोन कॉल पर देंगे चिकित्सीय सलाह

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 07:22 AM IST

भभुआ. (जितेंद्र कुमार) अगर सर्दी-खांसी और बुखार से आपकी तबीयत नासाज है, तो परेशान होने की जरूरत नही है। आप तत्काल कंट्रोल रूम का फोन घुमाइए। बस एक फोन कॉल को डाक्टर गंभीरता से लेते हुए आपको उचित सलाह तो देंगे ही देंगे, जरूरत पड़ी तो घर भी आएंगे। 
इसके लिए आपको हेल्प लाइन नंबर 104 या फिर जिला कंट्रोल रूम का नंबर 06189-222233/222333 डायल करने होंगे। आपकी स्वास्थ्य संबंधित समस्याओं का सामाधान होगा। दरअसल ये सुविधा वैश्विक महामारी कोरोना संक्रमण  (कोविड-19 ) के दौरान कैमूर जिले में स्थापित कर शुरू की गई है। आमजन को स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान करने के मद्देनजर कंट्रोल रूम में शिफ्टवाईज तीन डॉक्टर्स पदस्थापित किए गए हैं।

जो बस एक फोन कॉल पर चिकित्सीय सलाह देंगे। सदर अस्पताल भभुआ के उपाधीक्षक डॉ विनोद कुमार सिंह बताते हैं की सदर अस्पताल में कोविड-19 के दौरान स्थापित हेल्पलाइन नंबर को गंभीरता से लेने के लिए शिफ्ट वाइज़ में डॉक्टर सिद्धार्थ राज सिंह डॉक्टर संतोष कुमार सिंह और डॉक्टर चंद्रशेखर पाण्डेय की तैनाती की गई है।
डॉक्टर्स पूछते हैं आप किसी संक्रमित के संपर्क में तो नही आए हैं न ? 
सदर अस्पताल में बनाए गए हेल्पलाइन नंबर पर चिकित्सीय  सलाह के लिए जिन बीमार व्यक्तियों फोन आता है डॉक्टर्स की टीम सबसे पहले उन्हें मर्ज क्या है सुनती है, फिर बजाप्ता एक फॉर्म में बने कॉलम बॉक्स में उनका बायोडाटा इंट्री करती है। इस बीच डाक्टर पूछते हैं कि आप किसी संक्रमित के संपर्क में तो नही आए हैं न ? अगर जवाब हां में मिला तो उन्हें क्वारेण्टाइन किया जाता है। नही तो उनमें अगर सर्दी, कफ, बुखार के लक्षण हैं तो सरकार के स्वास्थ्य महकमा से नामित किए गए दवाओं में से फलां-फलां दवा लेने की सलाह दिया जाता है। एडवाइस किए गए दवाओं का नाम फोन कट होने के बाद उनके मोबाइल पर एसएमएस के जरिए तत्काल मिल जाती है।
कंट्रोल रूम में अब तक आए हैं 1061 कॉल, 351 घरों में जा चुके हैं डॉक्टर्स
बीते 19 मई 2020 को राज्य स्वास्थ्य विभाग,बिहार से जारी किए गए आंकड़े बताते हैं कि जिला कंट्रोल रूम में अब तक 1061लोगों के द्वारा कॉल किए जा चुके हैं,इनमें से 131 लोगों को चिकित्सीय सलाह डॉक्टर्स दे चुके हैं जबकि 351 घरों में डॉक्टर्स जा चुके हैं। दरअसल वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने की दिशा में जिला प्रशासन और स्वास्थ्य महकमा के निर्देश पर जिले में डोर टू डोर सर्वे किया गया। इस दौरान आशा के साथ एक-एक डॉक्टर भी सर्वे के दौरान लोगों की स्वास्थ्य जांच कर चुके हैं। इस दौरान जिनमें सर्दी, खांसी,एलर्जी और बुखार जैसे मर्ज पाए गए उन्हें फर्स्ट स्टेज की दवाएं लेने की सलाह दी जा रही है। 
351 लोगों के घर जाकर डॉक्टर्स  दे चुके हैं चिकित्सीय सलाह 
सर्वे के दौरान जिले में अब तक 351 लोगों के घर जाकर डॉक्टर्स चिकित्सीय सलाह दे चुके हैं।जिनकी हालत संदिग्ध लगी उन्हें क्वारेंटाइन सेंटर में लाकर रखा गया है जबकि जिसमें सर्दी,खांसी बुखार और एलर्जी जैसे सामान्य लक्षण दिखे उन्हें दवाएं लेने की सलाह दी गई है। -डॉ. अशोक कुमार सिंह,जिला वेक्टर डिजीज कंट्रोल पदाधिकारी 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना