लापरवाही / लॉकडाउन 4.0 में बाजारों में चहल-पहल बढ़ी पर लापरवाही बढ़ा सकती हैं लोगों की मुसीबतें

Lockdown 4.0 increased market movements, but negligence can increase people's troubles
X
Lockdown 4.0 increased market movements, but negligence can increase people's troubles

  • प्रशासन से दुकानें खोलने के लिए दी गई राहत के बाद सामानों की खरीद-बिक्री में निर्देशों का नहीं हो रहा पालन

दैनिक भास्कर

May 23, 2020, 07:29 AM IST

भभुआ. लॉकडाउन 04 में बाजारों में चहल-पहल बढ़ गई है, धीरे-धीरे हो सही पर बाज़ारों की रौनक लौट रही है, पर इन सब के बीच अनदेखियां बढ़ गई है। जो आमजन की मुसीबतें बढ़ा सकता है। दरअसल लॉक डाउन 03 और लॉक डाउन 04 में वैश्विक महामारी कोरोना काल में सशर्त विभिन्न प्रकार की दुकानों को खोलने की प्रशासनिक छूट के आदेश के बाद शुक्रवार को भास्कर ने जमीनी पड़ताल की।

पड़ताल के दौरान यह बात सामने आई की शासन-प्रशासन से दुकानें खोलने के लिए दी गई राहत के बाद सामानों की खरीद-बिक्री में प्रशासनिक निर्देशों का अक्षरशः पालन नहीं हो रहा है। ऐसे में जिले के बुद्धिजीवियों में संभावना जताई जा रही जहां व्यवसायियों की मुश्किलें बढ़ सकती हैं वहीं आमजनों की भी मुसीबतें बढ़ सकती है।

मालूम हो कि वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के फैलाव की दिशा में किए गए लॉक डाउन में व्यवसायियों को शासन-प्रशासन की तरफ से काफी राहत प्रदान की गई है, लेकिन दुकानें खोलने की अनुमति मिलने के बाद दुकाने खोलने की अवधि और प्रशासनिक दिशा-निर्देश का अनुपालन भी बहुते व्यवसाई नहीं कर रहे हैं।
दो अलग-अलग टाइमिंग में खुलेंगी दुकानें, जानें कब और किस दिन
जिलाधिकारी डॉ. नवल किशोर चौधरी ने गृह विभाग बिहार पटना के आदेश के आलोक में कुछ दुकानों को सशर्त खोलने की अनुमति प्रदान कर चुके हैं। पर यह अनुमति दो अलग-अलग टाइमिंग में दी गई हैं। बीते दिनों यानी लॉक डाउन03 के आदेश के तहत ग्राहक मोबाइल, हार्डवेयर, सेनेटरी, मिठाई सैलून, इलेक्ट्रानिक्स व स्टेशनरी इत्यादि सामान 7 से शाम 5.30 बजे तक खरीद सकते हैं जबकि बीते20 मई को प्रशासनिक तौर पर जिले में विभिन्न सामग्रियों की दुकानों को कुछ शर्तों के साथ लॉक डाउन 04 में कपड़े, रेडीमेड, ज्वेलरी, शू स्टोर, चश्मा, फर्नीचर, सौंदर्य प्रसाधन व ऑटोमोबाइल की दुकानें सुबह 9 से 4 बजे तक ही खुलेंगी। 
कोरोना को बढ़ने से रोकने के लिए घरों में रहना है
बता दें कि इसके फैलाव को बढ़ने से रोकने के लिए घरों में रहना ही बचाव है। इसलिए पुलिस-प्रशासन इस मसले पर काफी गंभीर है। जिला प्रशासन ने लोगों को नसीहत दी है कि वे खुद और परिवार की सलामती के लिए घरों में ही रहें। अन्यथा लोग अगर नहीं मानें तो कोरोना से जंग लड़ना बड़ा ही मुश्किल होगा। दरअसल कोरोना वायरस फैल रहा है, शायद इस वजह से जिलेवासियों में करीब 90 प्रतिशत लोग गंभीर हुये हैं। लेकिन कुछ बेपरवाह आमजन रोज लॉक डाउन तोड़ रहे हैं।
बाज़ार में खोले जाने वाली दुकानों की मोनेटरिंग करेंगे एसडीएम 
बाज़ार में खोले जाने वाली दुकानों की मोनेटरिंग की जाएगी। इसके लिए जिले के दोनों अनुमंडल भभुआ और मोहनिया के एसडीएम और दोनों अनुमंडलों के एसडीपीओ (डीएसपी ) निगरानी रखेंगे। इस दौरान जहां से भी गड़बड़ी या फिर मनमानी की शिकायतें सामने आएंगी कार्रवाई की जाएगी। लॉक डाउन के दौरान जिले में छह कंटोंनमेंट जोन घोषित किए गए हैं। इन इलाकों में आमजन का आवागमन नियंत्रित होगा। किसी भी प्रकार के दुकान नहीं खोले जा सकेंगे। ऐसा पाये जाने पर कार्रवाई की जाएगी। -डॉ. नवल किशोर चौधरी, जिलाधिकारी, कैमूर

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना