पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

निर्देश से बढ़ी परेशानी:पांच साै से अधिक बंट चुके कार्ड, 100 लाेगाें के ही शामिल हाेने के निर्देश से लाेगाें में असमंजस

भभुआ2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • काेराेना के बढ़ते मामले काे लेकर शादी और श्राद्ध कर्म कार्यक्रम में 100 लाेगाें से अधिक शामिल हाेने पर पाबंदी

वैवाहिक कार्यक्रमों का दौर शुरू हो चुका है।शुभ मुहूर्त में शादियां होंगी। शादियों के कार्ड सैकड़ों की संख्या में बांटे जा चुके हैं। अब शादी वाले घरों में सरकार के नई गाइडलाइन के बाद असमंजस की स्थिति बनी हुई है।शादी विवाह को लेकर सारी बुकिंग हो चुकी है। खाने तक का आर्डर बुक किया जा चुका है। इसके अलावा होटल मैरिज हॉल हलवाई टेंट सभी को रुपए का भुगतान भी किया जा चुका है।अब ऐसे में सरकार से जारी गाइडलाइन का पालन कितना सरदार होगा यह देखने वाली बात होगी।

बता दें कि गृह विभाग की ओर से कंटेनमेंट जोन के बाहर 26 नवंबर से तीन दिसंबर तक वैवाहिक कार्यक्रम कार्तिक पूर्णिमा स्नान एवं श्राद्ध क्रिया कर्म को लेकर मानक संचालन प्रक्रिया जारी की गई है। नए गाइडलाइन के मुताबिक वैवाहिक कार्यक्रम के आयोजन में अधिकतम 100 व्यक्ति स्टाफ सहित उपस्थिति की अनुमति दी गई है। अब ऐसे में इस नियम का पालन कितना होगा यह देखने वाली बात होगी। इसके अलावा वैवाहिक कार्यक्रम में शामिल सभी व्यक्ति को अनिवार्य रूप से मास्क का उपयोग करने, प्रवेश के समय हाथ को सेनीटाइज करने, थर्मल स्क्रीनिंग करने की व्यवस्था करनी होगी। शादी समारोह के लिए प्रयुक्त परिसर मैदान में सभी जगहों पर समय-समय पर सफाई किए जाने का निर्देश है।

वैवाहिक कार्यक्रम में कोरो ना बीमारी के लक्षणों से रहित व्यक्तियों को ही सम्मिलित होने की अनुमति दी जाए। वैवाहिक कार्यक्रम के आयोजक होटल एवं विवाह भवन प्रबंधक आगंतुकों द्वारा छोड़े गए मास्क के फेस कवर दस्ताने को निपटाने की व्यवस्था करेंगे। जिला प्रशासन द्वारा यह सुनिश्चित किया जाएगा कि वैवाहिक कार्यक्रम के आयोजक होटल एवं विवाह भवन प्रबंधक इत्यादि से समन्वय स्थापित कर इस दिशा निर्देश का अनुपालन सुनिश्चित कराएंगे। इन नियमों का पालन करने का निर्देश किया जा रहा है।

होटल मैरिज हॉल हलवाई टेंट सभी को रुपए का भुगतान करने के बाद आयाेजनकर्ताओं की बढ़ी परेशानी

डीजे की धुन पर लगी पाबंदी लगाना बड़ी चुनौती
गृह विभाग से जारी आदेश में शादी समारोह के दौरान सड़कों पर बैंड बाजा डीजे एवं बरात के जुलूस निकालने की अनुमति नहीं दी जाएगी। वैवाहिक समारोह स्थल परिसर में इसकी अनुमति होगी। बिना डीजे के बारात निकलने पर बारातियों की मायूसी वाजिब है। जिला प्रशासन के लिए डीजे और बैंड बाजे की धुन पर पाबंदी लगाना कठिन चुनौती होगी। हालांकि प्रशासन का कहना है कि लोग अपने स्वास्थ्य का ध्यान में रखते हुए नियमों का पालन अनिवार्य रूप से करें।संक्रमण बढ़ने का खतरा ज्यादा है।

श्राद्ध कार्यक्रम में पाबंदी के साथ हो सकते हैं शामिल
श्राद्ध क्रिया कर्म को लेकर भी गाइडलाइन जारी किए जा चुके हैं।जिसमें कहा गया है कि श्राद्ध कर्म हेतु लोगों के भाग लेने में अधिकतम सीमा 25 होगी।सामाजिक दूरी मास्क तथा कोविड-19 से संबंधी दिशानिर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित किया जाएगा।शादी विवाह श्राद्ध क्रिया कर्म में शामिल होने वाले व्यक्तियों को लेकर पाबंदी लगा दी गई है।इस परिस्थिति में लोगों को खुद ही जागरूक होकर आगे आना होगा होगा। कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए सरकार ने यह निर्णय लिया है।

घाटों पर स्नान नहीं करने के लिए किया जाए प्रेरित
जिला प्रशासन द्वारा यह सुनिश्चित किया जाएगा कि कार्तिक पूर्णिमा स्नान के संबंध में नागरिक इकाइयों वार्ड पार्षदों त्रिस्तरीय पंचायत प्रतिनिधियों एवं अन्य गणमान्य व्यक्तियों से समन्वय स्थापित कर संक्रमण से बचाव के लिए केंद्र एवं राज्य सरकार द्वारा समय-समय पर निर्गत निर्देशों के आलोक में लोगों को जागरूक किया जाए। भीड़ भाड़ तथा जल्द संक्रमित होने की स्थिति में संक्रमण फैलने का खतरा होगा। लोगों को नदी घाटी नहीं जाने के लिए प्रेरित किया जाए।

प्रशासन के समक्ष होगी बड़ी चुनौती
गृह विभाग से जारी किए गए गाइडलाइन का पालन कराना जिला प्रशासन के लिए काफी चुनौतीपूर्ण होगा। क्योंकि शादी व्याह सहित श्राद्ध क्रिया कर्म में भी जितने व्यक्तियों के लिए पाबंदी लगाई गई है। उससे कहीं अधिक की संख्या में निमंत्रण पत्र बांटे जा चुके हैं। लोगों को एक जगह इकट्ठा होने से रोकने के लिए प्रशासन को कड़ी मशक्कत करनी पड़ेगी। जिला प्रशासन का कहना है कि लोगों को खुद जागरूक होकर इसमें आगे आना होगा।

नए गाइडलान के बाद सोशल मीडिया पर जंग
गृह विभाग के नए गाइडलाइन के बाद सोशल मीडिया पर भी जंग छिड़ी चुकी है। इस मुद्दे को लेकर चर्चाओं का दौर भी शुरू हो चुका है।कई लोग सरकार के इस फैसले पर नाराजगी भी जाहिर कर रहे है। उनका कहना है कि चुनाव के समय कोरो ना का डर चला गया था।सरकार और जिला प्रशासन ने भी इस पर चुप्पी साध ली थी। जैसे ही चुनाव बीत गया प्रकोप बढ़ने लगा है।सरकार भी इस मामले में लोगों को डरा रही है।सरकार के जारी गाइडलाइन को लेकर भी लोगों में उहपोह की स्थिति बनी हुई है। इस आदेश का कितना अनुपालन होगा यह तो आने वाला समय ही बताएगा।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- दिन उत्तम व्यतीत होगा। खुद को समर्थ और ऊर्जावान महसूस करेंगे। अपने पारिवारिक दायित्वों का बखूबी निर्वहन करने में सक्षम रहेंगे। आप कुछ ऐसे कार्य भी करेंगे जिससे आपकी रचनात्मकता सामने आएगी। घर ...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser