पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बड़ी सफलता:लैंड माइंस विस्फोट कांड में आरोपित पीडब्ल्यूजी का नक्सली हुआ गिरफ्तार

भभुआ10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • पुलिस की आंखों में धूल झोंककर पिछले 20 वर्षों से फरार चल रहा था हत्थे चढ़ा नक्सली

करीब 20 साल पूर्व नक्सल प्रभावित अधौरा थाना क्षेत्र के मुसहरवा बाबा के आगे जमुआ मोड़ पर नक्सलियों के बिछाए लैंड माइंस विस्फोट कांड में आरोपित पीडब्ल्यूजी संगठन का नक्सली गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया। गिरफ्तार नक्सली भगवानपुर थाना क्षेत्र के पतलोईयां गांव निवासी दहिन मल्लाह उर्फ हरिद्वार मल्लाह का पुत्र गुलाब मल्लाह है। गिरफ्तार नक्सली पिछले करीब 20 सालों से पुलिस की आंखों में धूल झोंक कर फरार चल रहा था। इस बाबत एसपी अभियान नितिन कुमार ने बताया है कि गिरफ्तार नक्सली के विरुद्ध अधौरा थाना में 26 दिसंबर 2001 को पी डब्ल्यूजी संगठन के नक्सलियों के विरुद्ध दर्ज किया गया था। इस कांड में गुलाब मल्लाह पिता दहीन मल्लाह अप्राथमिकी अभियुक्त है।

जिसे पुलिस ने गुरुवार को गुप्त सूचना के आधार पर कार्रवाई करते हुए अपर पुलिस अधीक्षक अभियान नितिन कुमार के नेतृत्व में एक टीम गठित कर अधौरा थाना एवं मोहनिया थाना के सहयोग से मोहनिया बस स्टैंड से गिरफ्तार कर लिया। एएसपी अभियान ने बताया है कि हत्थे नक्सली गुलाब मल्लाह के मोहनिया शहर के मल्लाह टोली मोहल्ला में होने की पुलिस को गुप्त सूचना मिली थी, सूचना के तत्काल बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुये नक्सली को दबोचने में जुट गई। इस दौरान नक्सली को मोहनिया शहर के बस स्टैंड से गुरुवार को गिरफ्तार कर लिया गया।

हवलदार व दो आरक्षी की हत्या और हथियार लूटकांड में था अभियुक्त

हत्थे चढ़े नक्सली गुलाब मल्लाह पर इतने केस हैं दर्ज
पुलिस के हत्थे चढ़े पीडब्ल्यूजी संगठन के नक्सली गुलाब मल्लाह पिता दहीन मल्लाह के विरुद्ध कैमूर जिला अंतर्गत अधौरा थाना में धारा 147,148,149, 302,307, 323,324, 325,326,353, 337, 427 व 379भादवि, 27 आर्म्स एक्ट, 3/4 विस्फोट पदार्थ अधिनियम और17सीएलए के तहत कांड दर्ज है। कांड का वांछित नक्सली लम्बे सालों से पुलिस की आंखों में धूल झोंककर फरार चल रहा था। जिसकी गिरफ्तारी के लिए कैमूर पुलिस को लंबे समय से तलाश थी,लेकिन नक्सली लंबे समय से पुलिस की पकड़ से दूर था।

नक्सली पर पुलिसकर्मियों की हत्या मामले में दर्ज है केस
एएसपी अभियान ने बताया है कि कैमूर जिले के उग्रवाद प्रभावित प्रखण्ड अधौरा थाना क्षेत्र के गढ़के पुलिस पिकेट पर ड्यूटी बदली कराने के लिए जा रहे हवलदार एवं आरक्षियों की डीसीएम पुलिस गाड़ी को बारूदी सुरंग विस्फोट कर उड़ाने और जानलेवा फायरिंग करते हुए एक हवलदार एवं दो आरक्षी की हत्या करने के अलावे अन्य हवलदार आरक्षण को गंभीर रूप से जख्मी कर 13 थ्री नॉट थ्री पुलिस राइफल, 4 बैनेट और गोली इत्यादि लूट लिया गया था। इस संबंध में 100 से 150 अज्ञात उग्रवादी संगठन पीडब्ल्यूजी के विरुद्ध अधौरा थाना में 26 दिसंबर 2001 को कांड दर्ज किया गया था।

जमुआ मुड़ान पर पहले से घात लगाए हुए थे नक्सली
बीते 26 दिसंबर 2001 को नक्सली वारदात के बाद हवलदार नंदन जी राम के फर्द बयान पर करीब 100 से 150 नक्सलियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज किया गया था। दर्ज एफआईआर में कहा गया था कि पुलिस की डीसीएम वैन से लगभग दर्जनों की संख्या में हवलदार और आरक्षी बल गड़के पिकेट पर ड्यूटी शिफ्ट करने जा रहे थे। जैसे ही पुलिस फोर्स से भरी वैन मुसहरवा बाबा के आगे जमुआमुड़ान के पास पहुंची पहले से घात लगाए सैकड़ों की संख्या में रहे नक्सलियों ने बारूदी सुरंग विस्फोट कर दिया। इस घटना में हवलदार देवकी साह, सिपाही राजकुमार शर्मा और दिनेश कुमार पटेल की मौत हो गथी। जबकि कई आरक्षी घायल हुए थे।

बारूदी सुरंग विस्फोट कांड में दो पहले ही हो चुके हैं गिरफ्तार
एसपी ने बताया है कि 26 दिसंबर 2001 को अधौरा क्षेत्र में बारूदी सुरंग विस्फोट कांड में दो नक्सलियों को कैमूर पुलिस बीते14 सितंबर 2019 को झारखंड प्रांत के गढ़वा जिले के भवनाथपुर थानान्तर्गत रेपुरा गांव के रहने वाले भरत सिंह खरवार उर्फ राजा पिता धोंधा सिंह खरवार और गढ़वा जिले के ही मझियांव थाना क्षेत्र के सेमरी के रहने वाले नक्सली जयनाथ यादव पिता बासुदेव यादव को गिरफ्तार कर चुकी है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज जीवन में कोई अप्रत्याशित बदलाव आएगा। उसे स्वीकारना आपके लिए भाग्योदय दायक रहेगा। परिवार से संबंधित किसी महत्वपूर्ण मुद्दे पर विचार विमर्श में आपकी सलाह को विशेष सहमति दी जाएगी। नेगेटिव-...

    और पढ़ें