पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना:राहत: अनलॉक की ओर बढ़ रहा कोरोना का ग्राफ, मात्र 4 नए संक्रमित मिले, 18 स्वस्थ

भभुआ25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • दुकानें खोलने के लिए दी गई राहत के बाद सामानों की खरीद-बिक्री में प्रशासनिक निर्देशों का नहीं हो रहा पालन

जिले में दिन प्रतिदिन कोरोना संक्रमण का ग्राफ कम हो रहा है। ऐसे में कैमूर जिला अब अनलॉक की तरफ बढ़ रहा है। लेकिन घट रहे संक्रमण के आंकड़े के बीच दुकानों व बाज़ारों में जुट रही बेपरवाह भीड़ चिंता की लकीरें खींच रही है। दरअसल लॉक डाउन के बीच बाज़ारों में निर्धारित समय के बीच खुल रही जरूरत के सामानों की खरीदारी के लिए लोग दुकानों पर पहुंच रहे हैं, यहां पहुंचने वाले बहुतरे ऐसे हैं जो बिना मास्क और सोशल डिस्टेंस का पालन किए भीड़ का हिस्सा बन रहे हैं।

इधर, स्वास्थ्य महकमा से मिली जानकारी के मुताबिक जिले में कोरोना संदिग्ध लोगों की लगातार जांच की जा रही है।जिसमें संक्रमित मरीजों की संख्या लगातार घटने के आंकड़े सामने आ रहे हैं।उधर, अभी भी कुछ लोग हैं जो लापरवाही बरत रहे हैं।जो कभी भी संक्रमण बढ़ाने का कारण बन सकता है।बाजारों में भीड़ देखकर लगता ही नहीं है कि कोरोनावायरस खतरा है। लोग बिना मास्क और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन किए बिना बाजारों में आ-जा रहे हैं।
बेशुमार भीड़ सब्जी मंडी रोड में देखी गई
रविवार को भी ऐसा ही देखा गया कि लॉकडाउन के दौरान किराना,दूध, सब्जी, फल, मांस-मछली व दवा की दुकान खुली थी,जहां बेशुमार भीड़ खासकर सब्जी मंडी रोड में देखी गई। भीड़ कुछ समय के लिए जान तक की भी स्थिति उत्पन्न हो जा रही है।

संक्रमण के खतरों से सावधानियां जरूरी नहीं तो बढ़ सकती है मुश्किलें
लॉक डाउन -3 में बाजारों में चहल-पहल बढ़ गई है। इन सब के बीच अनदेखियां बढ़ गई है। जो आमजन की मुसीबतें बढ़ा सकता है। रविवार को भास्कर ने जमीनी पड़ताल की। पड़ताल के दौरान यह बात सामने आई की शासन-प्रशासन से दुकानें खोलने के लिए दी गई राहत के बाद सामानों की खरीद-बिक्री में प्रशासनिक निर्देशों का अक्षरशः पालन नहीं हो रहा है। दुकानें खोलने की अनुमति मिलने के बाद दुकाने खोलने की अवधि और प्रशासनिक दिशा-निर्देश का अनुपालन भी बहुतेरे व्यवसाई नहीं कर रहे हैं आमजन भी कोरोना महामारी जैसे संक्रमण के लपेटे में आ सकते हैं।

कोरोना के फैलाव को बढ़ने से रोकने के लिए घरों में रहना ही बचाव
बता दें कि इसके फैलाव को बढ़ने से रोकने के लिए घरों में रहना ही बचाव है। इसलिए पुलिस-प्रशासन इस मसले पर काफी गंभीर है। जिला प्रशासन ने लोगों को नसीहत दी है कि वे खुद और परिवार की सलामती के लिए घरों में ही रहें। अन्यथा लोग अगर नहीं मानें तो कोरोना से जंग लड़ना बड़ा ही मुश्किल होगा।

दरअसल कोरोना वायरस फैल रहा है, शायद इस वजह से जिलेवासियों में करीब 90 प्रतिशत लोग गंभीर हुये हैं। लेकिन कुछ बेपरवाह आमजन रोज लॉक डाउन तोड़ रहे हैं। आदेश का उलंघन कर सड़कों व गलियों में फिजूल निकलने से नहीं मान रहे। इधर, पुलिस-प्रशासन की आमजन से अपील लागातार की जा रही है कि वे अपने घरों में ही रहें।

बाज़ार में खोले जाने वाली दुकानों की मॉनिटरिंग करेंगे एसडीएम व एसडीपीओ
बाज़ार में खोले जाने वाली दुकानों की मॉनिटरिंग कराई जाएगी। इसके लिए जिले के दोनों अनुमंडल भभुआ और मोहनिया के एसडीएम और दोनों अनुमंडलों के एसडीपीओ (डीएसपी ) निगरानी रखेंगे। इस दौरान जहां से भी गड़बड़ी या फिर कोरोना गाइडलाइन का पालन नही किए जाने की शिकायतें सामने आएंगी कार्रवाई की जाएगी।
नवदीप शुक्ला
जिलाधिकारी, कैमूर
​​​​​​​

खबरें और भी हैं...