पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

सख्ती:पंचायत चुनाव में घुंघट व बुर्के की आड़ में नहीं होगा फर्जी मतदान का खेल

भभुआ14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • महिला कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की जिम्मेदारी जिला निर्वाचन पदाधिकारी पंचायत को सौंपी गई

पंचायत चुनाव में घुंघट व बुर्के की आड़ में फर्जी वोटिंग पर लगाम लगाई जाएगी। आयोग ने इसके लिए महिला कर्मियों को मतदान केंद्र पर तैनात करने की व्यवस्था कर दी है। बता दें कि बिहार विधानसभा निर्वाचन के दौरान फर्जी मतदान रोकने के लिए यह व्यवस्था की गई थी। जिसमें महिलाओं की जांच के लिए महिला कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गई थी।

पंचायत चुनाव में भी आयोग ने महिला कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की जवाबदेही जिला निर्वाचन पदाधिकारी पंचायत को सौंपी है। चुनाव को स्वच्छ निष्पक्ष व पारदर्शी तरीके से संपन्न कराने के लिए राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा निर्देश जारी किए गए हैं।वैसे तो हर चुनाव में फर्जी मतदान कराने की होड़ रहती है। परंतु पंचायत चुनाव में इसको लेकर ज्यादा ही शिकायत मिलती है। ऐसे में महिला मतदाताओं को फर्जी मतदान कराने से लोग नहीं हिचकते हैं। इस बार पंचायत चुनाव में ऐसा होने की गुंजाइश काफी कम है। इस बार सभी मतदान केंद्रों पर बायोमैट्रिक सिस्टम का भी इस्तेमाल किया जाएगा।जिस से फर्जी मतदान पर नकेल कसी जाएगी। बता दें कि कैमूर में दस चरणों में पंचायत चुनाव संपन्न होंगे पहले चरण के अंतर्गत कुदरा प्रखंड में मतदान होगा।

खबरें और भी हैं...