पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

गिरफ्तारी:विवाह के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के दो सगे भाई गिरफ्तार, बचने को कुदरा में छिपे हुए थे

भभुआ15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शादी के नाम पर ठगी करने वाले गिरोह के दो सगे भाई गिरफ्तार किए गए हैं।थाना पुलिस ने बताया है कि पकड़े गए आरोपी पुलिस की पकड़ से बचने के लिए कुदरा में छिपे हुए थे। गिरफ्तार ठग बेलांव थाना क्षेत्र अंतर्गत राजा की अकोढ़ी गांव निवासी शंभू बिंद के पुत्र जीतन बिंद एवं योगेश बिंद के रूप में हुई है। इस बाबत थानाध्यक्ष राकेश कुमार रौशन ने बताया कि शादी कराने के लिए उक्त गिरोह मुंडेश्वरी धाम समेत अन्य धार्मिक स्थलों का चयन करता था। उन्होंने बताया कि इस गिरोह में कुछ अविवाहित युवती भी शामिल हैं, जिनकी शादी अन्य राज्यों से संबंधित दूरदराज इलाके के धनसेठ लोगों के बेटों से करा दी जा रही थी।

मगर शादी का रस्म पूरा होने के बाद वर पक्ष के लोग जैसे हीं ट्रेन या फिर किसी अन्य वाहन से दुल्हन को लेकर अपने घर लौटने की कोशिश कर रहे थें, वैसे हीं इसी क्रम में भाड़े की दुल्हन कोई बहाना बनाकर बीच रास्ते से हीं वापस भाग आती थी। उत्तर प्रदेश के झांसी जिला क्षेत्र निवासी युवक विनोद कुमार पिता कैलाश नारायण द्वारा साल 2019 में स्थानीय थाने की पुलिस को आवेदन देकर शादी-विवाह के नाम पर ठगी करने का आरोप लगाकर ठगी गिरोह के कुछ सदस्यों के विरुद्ध नामजद एफआईआर दर्ज कराई गई थी।

जिसके बाद पीड़ित आवेदक के निशानदेही पर मोहनिया थाना क्षेत्र अंतर्गत रूपपुर गांव निवासी आशा देवी नामक एक महिला आरोपी को न्यायिक हिरासत में पेश करते हुए जेल भेज दिया गया था। उक्त दोनों गिरफ्तार सगे भाई भी उसी गिरोह के सदस्य हैं। थानाध्यक्ष ने बताया है कि बुधवार को इन दोनों की गिरफ्तारी एवीपी कॉलेज भभुआ के पास से गुप्त सूचना के आधार पर की गई है।

खबरें और भी हैं...