आरा में आक्रोशित कैंडिडेट्स ने ट्रेन में लगाई आग:5 घंटे किया हंगामा, कई पुलिसवालों पर हमला, काबू में लाने के लिए बरसी लाठियां

आरा5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
कई ट्रेनों को आरा रेलवे स्टेशन से कई किलोमीटर दूर सुरक्षा के नजरिया से खड़ा कर दिया गया। - Dainik Bhaskar
कई ट्रेनों को आरा रेलवे स्टेशन से कई किलोमीटर दूर सुरक्षा के नजरिया से खड़ा कर दिया गया।

आरा में रेलवे NTPC के छात्रों का जबरदस्त प्रदर्शन लगातार दूसरे दिन भी देखने को मिला है। छात्रों ने मंगलवार को लगभग 5 घंटे से भी ज्यादा देर तक आरा रेलवे स्टेशन पर ट्रैक को जाम कर दिया। जिसके बाद प्रदर्शन कर रहे छात्रों की वजह से कई जगहों पर ट्रेन परिचालन बाधित हो गई। आक्रोशित छात्रों ने इस दौरान जमकर तांडव किया। छात्रों ने कई ट्रेनों को क्षतिग्रस्त कर दिया है। साथ ही कई पुलिस वालों पर गिट्टियों से हमला कर चोटिल कर दिया है। जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया है।

ट्रेन में छात्रों ने लगाई आग
आरा में रेलवे के नए नोटिफिकेशन का विरोध कर रहे छात्रों की भीड़ ने रेलवे ट्रैक पर जमकर तांडव किया है। आंदोलन कर रहे स्टूडेंट्स ने दो ट्रैक लाइन के बीच में गिट्टी फंसा दी है। साथ ही हावड़ा-दिल्ली मेन रूट आरा पश्चिमी ओवरब्रिज के समीप रेलवे ट्रैक पर आवागमन बाधित कर दिया। छात्रों ने कई ट्रेनों पर पत्थरबाजी भी की है। माल गाड़ी के इंजन को भी क्षतिग्रस्त कर दिया है। इसके साथ ही आरा सासाराम पैसेंजर ट्रेन की कई बोगियों को और उसके खिड़की को पूरी तरह से तोड़ दिया है। फिर आरा-सासाराम पैंसेंजर की बोगी में आग लगा दी है। इस दौरान छात्रों का झुंड पूरी तरह बेकाबू हो गया और स्टेशन परिसर में जमकर बवाल काटा।

बेकाबू छात्रों पर चली लाठियां
आरा में छात्रों का आंदोलन इतना उग्र हो गया, जिसे रोकने के लिए बिहार पुलिस के सैकड़ों जवानों को ट्रैक पर आना पड़ा। वहीं पुलिस के मनाने के बावजूद छात्र नहीं माने। प्रोटेस्ट कर रहे छात्रों ने इस दौरान पुलिस को भी अपना शिकार बना लिया।

बेकाबू स्टूडेंट्स ने भोजपुर पुलिस पर पत्थरों से हमला कर दिया, जिसमें एएसपी हिमांशु को हल्की चोट आई है। लेकिन इस हमले में आरा के नवादा थाना के इंस्पेक्टर अविनाश कुमार को गंभीर चोट आई है। जिसके बाद छात्रों को काबू करने के लिए पुलिस को सख्त कदम उठाने पड़े। पुलिस ने उसके बाद छात्रों पर जमकर लाठियां बरसाई है। उसके बाद ट्रैक को खाली कराया गया है। लेकिन अभी भी ट्रेन परिचालन बाधित है।

ट्रेन बाधित होने से कई पैसेंजर लौटे घर
विरोध कर रहे छात्रों ने लगभग 5 घंटे से भी ज्यादा देर तक ट्रैक को जाम कर प्रदर्शन किया। इस वजह से कई ट्रेनों को आरा रेलवे स्टेशन से कई किलोमीटर दूर सुरक्षा के नजरिया से खड़ा कर दिया गया। इस वजह से कई यात्रियों को परेशानी झेलनी पड़ गई है। वहीं कई यात्री स्टेशन परिसर से ही घर लौट गए है।

केस दर्ज कर होगी कार्रवाई
मामले में आरा सदर एसडीपीओ ज्योति नाथ सहदेव ने कहा कि इस प्रोटेस्ट में जितने भी असमाजिक तत्व मिले थे। सभी की पहचान वीडियो रिकॉर्डिंग के जरिए की जाएगी। पहचान होने के बाद उनपर मामला दर्ज कर कार्रवाई किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...