खुशियों में शरीक होने वाले को मौत के घाट उतारा:शादी में हर्ष फायरिंग के दौरान चली गोली, बैंड बजाने वाले की मौके पर गई जान

भोजपुरएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

दूसरे के खुशियों में बाजा (तासा,ढोल) बजाने वाले के ही घर मे आज मातम का माहौल कायम हो गया है। मामला भोजपुर जिले के चांदी थाना क्षेत्र के चांदी गांव का है। जहां छोटन दूसरे के खुशियों में सरिक होकर तासा (ढोल) बजाकर अपने परिवार का पालन-पोषण भरने का काम करता था, आज उसकी मौत के बाद घर में मातम का माहौल कायम हो गया है। पटना जिले के बिहटा थाना क्षेत्र के महुआर गांव से शादी में थाना के सोरमपुर गांव में शनिवार को बारात गया था, तभी द्वार पूजायी के समय हर्ष फायरिंग के दौरान गोली लगने से बैंड बाजा के एक सदस्य छोटन राम की मौत हो गई।

दरअसल, शनिवार को सोरमपुर गांव निवासी भुआली शर्मा के पुत्र विशाल की शादी दुल्हिनबाजार थाना के सोरमपुर गांव निवासी निरंजन शर्मा के पुत्री अर्चना से हो रही थी। इस घटना के बाद पूरे इलाके में अफरा-तफरी का माहौल हो गया। दुल्हिन बाजार थाना पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पटना ले गए जहां उसका पोस्टमार्टम करा परिवार वालों को सौंप दिया। शव के पहुंचते ही गांव में मातमी सनाटा पसर गया। घर में एकलौते कमाने वाले छोटन राम का शव देखते ही पूरे परिवार का रो-रोकर बुरा हाल हो गया है। इस घटना के बाद मृतक छोटन राम के भाई बजरंगी राम ने नामजद लोगों के खिलाफ दुल्हिन बाजार थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी है ।

बचपन से बैंड पार्टी में करता था काम, छोटन के सहारे चलता था पूरा परिवार

चांदी थाना क्षेत्र के चांदी गांव निवासी स्व राम अयोध्या राम के 45 वर्षीय पुत्र छोटन राम है। जो बचपन से ही बैंड पार्टी में तासा (ढ़ोल) और तुरतुरिया बजाने का काम करते थे। छोटन के 2 पुत्र रविरंजन (18),रोहित (15) और दो पुत्री ममता और छोटी बेटी सुगिया (12) है। छोटन की पत्नी इंद्रावती देवी कभी-कभी अपने पति के साथ काम पर जाती थी। छोटन राम लग्न के समय शादी समारोह में भोला बैंड पार्टी में काम करते थे। जब लग्न का समय नहीं रहता था तब वो गांव में ही धान कटनी और मजदूरी का काम कर अपने पूरे परिवार का पालन-पोषण करते थे। छोटन के मौत के बाद पत्नी इंद्रवती का रो-रोकर बुरा हाल है, बेसुध होकर सिर्फ एक ही बात बोल रही है- 'अब के करि सुगिया के बियाह,के संभाली हमार परिवार'।

गोली लगने के बाद शव को फेंका बधार में, डराने की जा रही है कोशिश

मृतक छोटन राम के भाई बजरंगी राम के बयान पर दुल्हिन बाजार थाना में प्राथमिकी दर्ज करायी गयी है। बजरंगी राम ने बताया कि हम अपने भाई के साथ में ही गए हुए थे,जब बारात लड़की वालों के दरवाजे पहुंची और द्वार पूजायी के समय कुछ लोगों द्वारा फायरिंग की जा रही थी। तभी वहां मौजूद लोगों ने बैंड पार्टी वालों को आगे आने के लिए बोले,जैसे ही हमलोग आगे बढ़ने लगे तो कुछ लोगों ने दरवाजे से पीछे हटने के लिए बोलने लगे। उसी समय एक नशे में धुत शख्स आकर गाली-गलौज करने लगा। उसके कुछ ही देरी के बाद मेरे भाई को दो गोली लग गई । गोली लगने के बाद जब हम लोग गाड़ी लाने के लिए गए तब तक मेरा भाई को गायब कर दिया गया। वह वहां मौजूद नहीं था। ऐसे में जब हमने काफी खोजबीन की तो बिहटा थाना के महुआर गांव के बधार से हमे शव मिला । मृतक के भाई ने कहा कि अगर मेरे भाई को वहां से गायब नहीं करते तो मेरे भाई की जान बच सकती थी । लेकिन लड़के वालों ने उनको वहां से गायब कर बधार में फेख दिया था।

वहीं इस मामले दुल्हिन बाजार थाना के थानाध्यक्ष अशोक कुमार ने बताया कि थानांतर्गत सोरमपुर गांव में बारात आयी थी,द्वार पूजायी के समय हो रहे फायरिंग में बैंड वाले एक छोटन राम को गोली लगने की सूचना मिली थी, लेकिन जब हमलोग घटना स्थल पर पहुंचे तो वहां छोटन का शव नही था,लड़के वालों के परिवार से पूछताछ के दरमियान पता चला कि छोटन का शव महुआर गांव के बधार में फेंका गया ।प्राथमिकी दर्ज कर ली गयी है जल्द से जल्द आरोपियों की गिरफ्तारी कर ली जाएगी ।

खबरें और भी हैं...