पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धक्का-मुक्की:बिदुपुर में गोलीकांड के आरोपी को गिरफ्तार करने पहुंची पुलिस के साथ लोगों ने की धक्का-मुक्की

बिदुपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • बाद में दोषी के साथ अव्यावहारिक ढंग से महिलाएं थाने पर लाई गईं

बिदुपुर थाने के बसतपुर ककरहाटा गांव में बीते दिन मंगलवार को थाने में दर्ज हत्या मामले के कांड 418/20 में आरोपी के घर छापेमारी करने गई पुलिस ने घरवालों के विरोध के पश्चात गांव में जमकर पुलिसिया दबंगई दिखलाई, रैप पुलिस बल के साथ साठ से सत्तर पुलिस बल और अधिकारियों द्वारा गांव को घेरकर घर घर मे बच्चे, बूढ़े, महिलाओं के साथ मारपीट व अशोभनीय व्यवहार किया गया। बताते चलें कि सम्बंधित गांव में बीते साल एक किराने की दुकान पर सामान लेने पहुंची गांव के युवती के साथ असमाजिक लड़कों द्वारा छेड़खानी की गई।

जिसके बाद गांव का माहौल बिगड़ा और द्विपक्षीय मारपीट में एक पक्ष के एक युवक की मौत हो गई। कांड में थाने में वादी पक्ष के द्वारा मामला दर्ज है। सम्बंधित कांड 418/20 में फरार आरोपी को पकड़ने पुलिस गांव में मंगलवार सुबह पहुंची। बिन महिला पुलिस के घर में आरोपी को पकड़ने गई तो पुलिस को घर की महिलाओं और बुजुर्गों के विरोध का सामना करना पड़ा। माहौल बिगड़ने के बाद पुलिस और आरोपी परिवार के सदस्यों में झड़प और धक्का मुक्की की नौबत आई।जिसके बाद पुलिस वहा से लौट गई। बताया गया कि गिरफ्तार आरोपी को जबरन घरवालों ने भगा दिया।

पुलिस के डंडे भांजने से चोटिल हुए लोग
सम्बंधित मामले के अनुसंधानक थानाध्यक्ष परशुराम सिंह के आदेश पर रैप जवान के साथ पुलिस बल ने गांव को घेर लिया। पुलिस के डंडे भांजने से फिर कई बुजुर्ग चोटिल हुए। पुलिस थाने में दर्ज मामले के दो आरोपी और घर की महिलाओं को गिरफ्तार कर ले आई। हालांकि महिलाओं को खुद को फसने के भय से पुलिस ने बाद में छोड़ दिया। बावजूद पुलिस पर हमला और कार्य में रुकावट के तहत केस में गांव के पांच महिलाएं के नाम भी डाल दिये गए। सत्रह लोगों पर प्राथमिकी दर्ज की है। प्रभारी थानाध्यक्ष परशुराम सिंह ने कहा कि पुलिस का यह गोपनीय कार्य है।

खबरें और भी हैं...